ताज़ा खबर
 

ब्राजील के अधिकारियों का दावा-IOC को रिश्वत देकर खरीदी गई थी रियो ओलिंपिक की मेजबानी

ब्राजील पुलिस ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि वे अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार की जांच कर रहे हैं जो 2016 ओलिंपिक की मेजबानी रियो को देने के लिए वोट खरीदने के मकसद से किया गया था।

Author September 7, 2017 10:01 am
रियो ओलिंपिक का उद्घाटन समारोह।

ब्राजील के अधिकारियों ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि देश के ओलिंपिक प्रमुख ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओली) को रिश्वत देकर रियो ओलिंपिक की मेजबानी हासिल करने की साजिश रची थी। ब्राजील पुलिस ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि वे अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार की जांच कर रहे हैं जो 2016 ओलिंपिक की मेजबानी रियो को देने के लिए वोट खरीदने के मकसद से किया गया था। उन्होंने कहा कि कई देशों में नौ महीने तक की गई जांच में पता चला है कि कुछ धांधली हुई है। पुलिस ने कहा कि ब्राजील ओलिंपिक के प्रमुख कार्लोस नुजमैन को पूछताछ के लिए बुलाया गया और उनके घर की तलाशी ली गई। अभियोजकों ने बताया कि नुजमैन को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया, हालांकि उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई। लेकिन उनका पासपोर्ट जब्त कर लिया गया।

इसके अलावा व्यवसायी आर्थर सोरेस की गिरफ्तारी के लिए वॉरंट जारी किया गया, जिसे रियो सरकार ने ओलंपिक से पहले मोटी रकम वाले ठेके दिए थे। उनकी पूर्व सहयोगी एलियेने परेरा कावालकेंटे को भी रियो में गिरफ्तार किया गया। वहीं उधर स्विटजरलैंड के लुसाने में आईओसी के एक प्रवक्ता ने हैरानी जताते हुए कहा ,‘‘ आईओसी को मीडिया से इसके बारे में पता चला है और हम पूरी जानकारी हासिल करने के प्रयास कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ आईओसी को इस मामले में स्पष्टीकरण हासिल करना ही होगा।’’

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App