ताज़ा खबर
 

एटीपी चैलेंजर: पेस के खेलने से बढ़ेगी युगल की चमक, मायनेनी एकल चुनौती की करेंगे अगुवाई

पुरुष युगल में 21 वर्षीय रामकुमार लिएंडर पेस के 110वें जोड़ीदार होंगे।

Author पुणे | October 23, 2016 18:26 pm
भारत के शीर्ष टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस। (फाइल फोटो)

अनुभवी लिएंडर पेस दो दशक बाद भारत में पहली बार एटीपी चैलेंजर टूर्नामेंट में भाग लेंगे और सोमवार (24 अक्टूबर) से शुरू होने वाले केपीआईटी-एमएसएलटीए चैलेंजर में वह युवा रामकुमार रामनाथन के साथ जोड़ी बनाएंगे जबकि साकेत मायनेनी देश की एकल चुनौती की अगुवाई करेंगे। पेस रैंकिंग में अब 59वें स्थान पर हैं, उन्होंने इस सत्र में कुछ चैलेंजर खेले हैं ताकि वह अपनी रैंकिंग में सुधार के लिए कुछ अहम अंक जुटा सकें। 50,000 डॉलर की ईनामी राशि में उनकी उपस्थिति से युगल स्पर्धा और टूर्नामेंट के दर्जे में भी चमक आएगी। पेस ने पिछली बार भारत में एटीपी चैलेंजर टूर्नामेंट दिसंबर 1997 में खेला था जब उन्होंने अहमदाबाद प्रतियोगिता के लिए नितिन कीर्तने के साथ जोड़ी बनायी थी।

यह 43 वर्षीय स्टार घरेलू डेविस कप मुकाबलों के अलावा सत्र के शुरू में लगातार चेन्नई ओपन में खेलता है जो भारत का एकमात्र एटीपी वर्ल्ड टूर है। महेश भूपति ने भी भारत में इस साल चैलेंजर टूर्नामेंट खेला है, वह दिल्ली ओपन में युकी भांबरी के साथ खेले थे। डेविस कप साथी पेस और रामकुमार इस साल काफी समय एक साथ बिता चुके हैं, हालांकि वे यहां पहली बार एक साथ जोड़ी बना रहे हैं लेकिन पेस नए जोड़ीदारों के साथ तेजी से सांमजस्य बिठाने के लिए मशहूर हैं। पुरुष युगल में 21 वर्षीय रामकुमार उनके 110वें जोड़ीदार होंगे।

पेस ने कहा, ‘मुझे पुणे के खेल प्रशसंक काफी पंसद हैं इसलिए मैंने पुणे में टूर्नामेंट खेलने का फैसला किया जो धीरे-धीरे अंतरराष्ट्रीय सर्किट पर मशहूर होते जा रहे हैं।’ मायनेनी ने मजबूत स्पेन के खिलाफ डेविस कप मुकाबले में पेस के साथ जोड़ी बनायी थी, वह भी चैलेंजर एकल खिताब अपने नाम करना चाहेंगे क्योंकि सत्र का अंत करीब है। मायनेनी ने ट्रेनिंग सत्र के बाद कहा, ‘यह देखना शानदार है कि कई भारतीय इस प्रतियोगिता में खेल रहे हैं। यह हमारे खिलाड़ियों के लिए बढ़िया मौका है। देखते हैं कि कौन आगे बढ़ता है। पिछली बार मैंने दिल्ली ओपन के दौरान कुछ भारतीय खिलाड़ियों को देखा, इसलिए भारत में इन चैलेंजर टूर्नामेंट को देखना अच्छा है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App