ताज़ा खबर
 

साल 2015 से ही टेस्ट मैचों में भारत के लिए सिर दर्द बनी हुई है यह चीज, नहीं मिल पा रहा है तोड़

इस दौरान भारत ने 9 अलग-अलग जोड़ियों को आजमाया है, लेकिन एक भरोसेमंद ओपनिंग जोड़ी की तलाश पूरी नहीं हो सकी है। 2015 से इंग्लैंड ने 10 ओपनिंग जोड़ियां बदली हैं।

Author बेंगलुरू | March 4, 2017 4:17 PM
बेंगलुरू टेस्ट मैच में भारत के सलामी बल्लेबाज अभिनव मुकुंद को एलबीडब्लू आउट करने के बाद खुशी मनाते आॅस्ट्रेलिया के मेज गेंदबाज अभिनव मुकुंद।(Photo: BCCI)

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के दूसरे टेस्ट मैच में एक बार फिर से भारतीय ओपनिंग जोड़ी नाकाम रही। पहले विकेट के लिए अभिनव मुकुंद और लोकेश राहुल के बीच केवल 11 रनों की साझेदारी हो सकी। टीम इंडिया में करीब छह साल बाद वापसी करने वाले ओपनर बल्लेबाज अभिनव मुकुंद मौके का फायदा नहीं उठा पाए। इस मैच में मुरली विजय को कंधे की चोट के चलते टीम से बाहर रखा गया था और उनकी जगह करीब 56 टेस्ट मैचों के बाद अभिनव मुकुंद टीम में लौटे थे। ऑस्‍ट्रेलिया के तेज गेंदबाज स्‍टार्क की फुलटॉस गेंद अभिनव मुकुंद के पैड पर टकराई और वो बिना खाता खेले एलबीडब्‍ल्‍यू हो गए।

हालांकि, दूसरे ओपनर लोकेश राहुल ने अच्छा खेल दिखाया और भारत की पहली पारी में सर्वश्रेष्ठ स्कोरर रहे। लेकिन ओपनिंग जोड़ी की बात करें तो यह भारत को एक बार फिर अच्छी शुरुआत दिला पाने में नाकाम रही। साल 2015 से भारत को टेस्ट मैचों में एक सफल ओपनिंग जोड़ी की तलाश रही है। इस दौरान भारत ने 9 अलग-अलग जोड़ियों को आजमाया है, लेकिन एक भरोसेमंद ओपनिंग जोड़ी की तलाश पूरी नहीं हो सकी है। ओपनिंग के लिए जोड़ियों को आजमाने के मामले में टेस्ट खेलने वाले देशों में केवल इंग्लैंड ही भारत से आगे है। 2015 से इंग्लैंड ने 10 ओपनिंग जोड़ियां बदली हैं। वर्तमान समय में भारत के लिए मुरली विजय और लोकेश राहुल ओपनिंग कर रहे हैं।

इनके अलावा भारत के पास शिखर धवन, गौतम गंभीर और अभिनव मुकुंद भी विकल्प के तौर पर मौजूद हैं, लेकिन फिटनेस या फॉर्म की वजह से भारत किसी एक जोड़ी पर भरोसा नहीं कर पा रहा है। अभिनव मुकुंद के लिए मौजूदा घरेलू सत्र काफी अच्छा रहा था। उन्होंने 2016-17 में 10 रणजी मैचों में 65.31 के औसत से 849 रन बनाए। इनमें उनका बेस्ट स्कोर 154 रहा। इसी की बदौलत उन्होंने चयनकर्ताओं का ध्यान खींचा था। रणजी के पिछले सीजन की बात करें तो उन्होंने 7 मैचों में 18.20 के औसत से 182 रन बनाए थे। इनमें उनका बेस्ट स्कोर 71 रन था। वहीं, रणजी के 2014-15 सीजन में उन्होंने 11 मैचों में 45.16 के औसत से 858 रन बनाए थे। इसमें उनका बेस्ट स्कोर 140 रन था।

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें…

वीडियो: क्रिकेट के 5 ऐसे रिकॉर्डस्, जो कर देंगे आपको हैरान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App