ताज़ा खबर
 

मुकाबले के दौरान पीवी सिंधू के पिता तनाव में थे, मां ने कहा- भगवान की कृपा से जीती

उनके पिता ने बताया कि सिंधू और गोपीचंद ने बहुत ज्यादा मेहनत की है। अगर वह कल भी इसी तरह खेलेगी तो पक्का जीतेगी।

Author नई दिल्ली | August 18, 2016 23:43 pm
सेमीफाइन में जीत के बाद पीवी सिंधू के माता-पिता। (ANI PHOTO)

रियो ओलंपिक में बैडमिंटन के महिला एकल सेमीफाइनल मुकाबले में भारत की पीवी सिंधू ने जापान की नोमोजी ओकुहारा को सीधे सेटों में मात दे दी है। सिंधू सेमीफाइनल जीतकर फाइनल में पहुंच गई है। अब यहां उनका मुकाबला शुक्रवार शाम को स्पेन की नंबर एक खिलाड़ी मरिन से होगा। सिंधू रियो ओलंपिक में फाइनल में पहुंचकर सिल्वर मेडल पहले ही पक्का कर चुकी हैं। सेमी फाइनल में सिंधू के जीत के बाद उनके माता-पिता ने कहा कि हम बहुत खुश है और गर्व महसूस कर रहे हैं। पीवी संधू ने पिता ने बताया कि पहला सेट थोड़ा तनाव देने वाला था। जब वह सेकेंड गेम में 15-10 से लीड कर रही थी तब हमने सोच लिया कि सिंधू जीत जाएगी।

सिंधू के पिता ने बताया कि सिंधू और गोपीचंद ने बहुत ज्यादा मेहनत की है। अगर वह कल भी इसी तरह खेलेगी तो पक्का जीतेगी। बता दें कि अगर सिंधू कल जीततीं है तो यह ओलंपिक में भारत का पहला गोल्ड होगा। सिंधू की मां ने कहा कि हम हर दिन मंदिर जा रहा थे और कल भी जाएंगे। वह भगवान की कृपा से जीती है। कर्णम मल्लेश्वरी, मैरी कॉम, साइना नेहवाल और साक्षी मलिक के बाद पीवी सिंधू ओलिंपिक में मेडल जीतने वाली पांचवीं भारतीय ऐथलीट होंगी।

पी वी सिंधू से जुड़ी तमाम खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

सिंधू के सेमीफाइनल में जीतने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें फाइनल के लिए शुभकामनाएं दी है। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा- सुपरब परफॉर्मेंस पीवी सिंधू। तुमने भारत को गर्व महसूस करवाया है। फाइनल के बेस्ट ऑफ लक। गौरतलब है कि इससे पहले भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने 58 किग्रा वर्ग कुश्ती मुकाबले में रेपीचाज़ के दूसरे दौर में कजाकिस्तान की महिला पहलवान को हराकर रियो ओलंपिक में कांस्य पदक जीता।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App