ताज़ा खबर
 

जोकोविच ने मर्रे को हराकर ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीता

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने ब्रिटेन के एंडी मर्रे को हराकर पांचवीं बार ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब जीत लिया। जोकोविच ने तीन घंटे 39 मिनट तक चले मुकाबले में 7-6, 6-7, 6-3, 6-0 से जीत दर्ज की। यह उनके कैरियर का आठवां ग्रैंडस्लैम खिताब है और मेलबर्न पार्क पर उन्होंने आठ […]

Author February 1, 2015 7:02 PM
नोवाक जोकोविच ने तीन घंटे 39 मिनट तक चले मुकाबले में एंडी मर्रे को 7-6, 6-7, 6-3, 6-0 से जीत दर्ज की। (फ़ोटो-एपी)

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने ब्रिटेन के एंडी मर्रे को हराकर पांचवीं बार ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब जीत लिया। जोकोविच ने तीन घंटे 39 मिनट तक चले मुकाबले में 7-6, 6-7, 6-3, 6-0 से जीत दर्ज की। यह उनके कैरियर का आठवां ग्रैंडस्लैम खिताब है और मेलबर्न पार्क पर उन्होंने आठ साल में पांच फाइनल खेलकर सभी में खिताबी जीत दर्ज की है। उनसे अधिक ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के रॉय एमर्सन (छह) के नाम है जिन्होंने साठ के दशक में यह कमाल किया था।

जोकोविच के खिलाफ मर्रे की यहां चार फाइनल मैचों में तीसरी हार थी। इससे पहले 2011 और 2013 के फाइनल में भी जोकोविच ने उन्हें हराया था हालांकि मर्रे ने उन्हें 2012 अमेरिकी ओपन और 2013 के विम्बलडन में शिकस्त दी थी। इस जीत के साथ ही जोकोविच ने अगली एटीपी रैंकिंग में अपना नंबर वन स्थान बरकरार रखा। वहीं मर्रे छठे से चौथे स्थान पर पहुंच जायेंगे।

मर्रे ने पहले सेट के तीसरे गेम में तीन ब्रेक प्वॉइंट बनाकर जोकोविच पर दबाव बना दिया लेकिन सर्बियाई खिलाड़ी ने 27 स्ट्रोक की रैली में बाजी मारते हुए एक ऐस के साथ वापसी की। अगले गेम में हालांकि उनकी लय टूटी और मर्रे ने 3-1 की बढ़त बना ली।

सातवें गेम में अपने तीसरे ब्रेक प्वाइंट पर मर्रे ने जोकोविच की सर्विस तोड़ी। अगले गेम में एक नीची वॉली का जवाब देते हुए जोकोविच के अंगूठे में चोट लगी और अगले चेंजओवर में उन्हें उपचार कराना पड़ा।

इस चोट से हालांकि जोकोविच के खेल पर असर नहीं पड़ा और उन्होंने मर्रे की सर्विस तोड़कर सेट को टाइब्रेकर में पहुंचाया। टाइब्रेकर में वह 2-4 से पीछे थे लेकिन अगले छह में से पांच प्वॉइंट लेकर पहला सेट 72 मिनट में जीत लिया।

मर्रे ने दूसरे सेट में 2-0 की बढ़त बना ली लेकिन जोकोविच ने दो बार उनकी सर्विस तोड़कर वापसी की। जोकोविच ने लगातार 13 प्वॉइंट लेकर उन्हें परेशान किया।

शरणार्थियों के समर्थन में विरोध प्रदर्शन कर रहे राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने खेल को पांच मिनट तक बाधित किया। उनमें से एक कोर्ट पर भी आ गया था जिससे सुरक्षाकर्मियों ने बाहर किया।

इस व्यवधान का मर्रे ने फायदा उठाया और जोकोविच की सर्विस तोड़कर 4-4 से बराबरी की। दूसरे टाइब्रेकर में मर्रे ने जीत दर्ज करके स्कोर बराबर कर लिया। तीसरे सेट में जोकोविच की सर्विस जल्दी ही टूटी लेकिन उसने शानदार वापसी करते हुए 39 मिनट में सेट जीत लिया।

आखिरी सेट में जोकोविच ने मर्रे को वापसी का कोई मौका नहीं दिया और तीन बार उनकी सर्विस तोड़कर एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब अपने नाम कर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App