ताज़ा खबर
 

एमएस धोनी के ओपनर फॉफ डुप्लेसिस ने किया 100 किलो वाले आजम खान का समर्थन, फिटनेस को लेकर कही बड़ी बात

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में एमएस धोनी की अगुआई वाली चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) का हिस्सा फॉफ डुप्लेसिस ने कहा, ‘मैं ऐसा नहीं मानता हूं कि क्रिकेट में सफलता के लिए सिक्स-पैक की जरूरत है। आपके पास जो है आप उसी से काम करते है।’

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 7, 2021 9:04 PM
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान फॉफ डुप्लेसिस ने कहा कि क्रिकेट में सफल होने के लिए हर खिलाड़ी का ‘सिक्स-पैक एब्स होना जरूरी नहीं है।

इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) में महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की अगुआई वाली चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) के ओपनर फाफ डुप्लेसिस (Faf Du Plessis) ने आजम खान (Azam Khan) के बहाने विराट कोहली (Virat Kohli) पर निशाना साधा है। दरअसल, आजम खान के पाकिस्तान की टी20 में चयन होने को लेकर सवाल उठ रहे थे।

यह सवाल आजम खान की फिटनेस को लेकर उठ रहे थे। इस बीच, दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान फाफ डुप्लेसिस ने कहा कि क्रिकेट में सफल होने के लिए हर खिलाड़ी का ‘सिक्स-पैक एब्स (फिट शरीर)’ होना जरूरी नहीं है। डुप्लेसिस ने कहा, ‘आजम जैसे खिलाड़ी को सफल होने के लिए मेरे जैसा दिखना जरूरी नहीं है। यह हर दिन थोड़ा-थोड़ा सुधार करने के बारे में है।’ उन्होंने कहा, ‘मैं ऐसा नहीं मानता हूं कि क्रिकेट में सफलता के लिए सिक्स-पैक की जरूरत है। आपके पास जो है आप उसी से काम करते है।’

क्रिकेट फैंस यह जानते हैं कि विराट कोहली अपनी ही नहीं, बल्कि साथी खिलाड़ियों की भी फिटनेस को लेकर सक्रिय रहते हैं। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज दौरे पर जाने वाली पाकिस्तान की टी20 टीम में पूर्व विकेटकीपर मोइन खान के बेटे आजम के चयन के बाद से विवाद हो रहा है। आजम खान का वजन पहले 130 किलोग्राम था। हालांकि, उन्होंने काफी प्रयास के बाद अपना वजन 30 किलो कम कर लिया है।

कई लोगों का मानना है कि आजम अनफिट हैं। उनका चयन पिता के प्रभाव के कारण हुआ है। डुप्लेसिस पाकिस्तान सुपर लीग (Pakistan Super League) 2021 में क्वेटा ग्लैडिएटर्स टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे और 100 किलो से अधिक वजन वाले आजम भी उस टीम का हिस्सा हैं। डुप्लेसिस ने अबुधाबी से ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘जब फिटनेस की बात होती है तो हर आदमी की जिम्मेदारी है कि वह हर दिन कोशिश करें और उसमें सुधार करें।’

‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ के मुताबिक डुप्लेसिस ने कहा, ‘यह हर एक व्यक्ति के लिए अलग है। अपने बारे में बात करूं तो मैं उम्र बढ़ने के बाद भी यह सोचना बंद नहीं करता कि एक क्रिकेटर के रूप में खुद को कैसे सुधार सकता हूं, मैं अपने शरीर को कैसे सुधार सकता हूं, मैं अपने दिमाग को कैसे सुधार सकता हूं।’

आजम को बड़े शॉट लगाने के लिए जाना जाता है। उन्होंने 36 टी20 मैचों में 743 रन बनाये हैं और वह इस दौरान हर चौथी गेंद पर बाउंड्री लगाने में सफल रहा है। डुप्लेसिस ने कहा, ‘अलग-अलग लोगों की तुलना करना अनुचित है, हम दो अलग-अलग खिलाड़ियों की तुलना कर रहे हैं। वह एक ऐसा खिलाड़ी है जो हमेशा आक्रमक और बड़े शॉट लगाएगा। इससे इससे एक लंबा रास्ता तय करेगा।’

Next Stories
1 India tour of Sri Lanka: भारत के श्रीलंका दौरे का शेड्यूल जारी, तीन वनडे और तीन टी20 मैच खेलेगी टीम इंडिया
2 हरभजन सिंह ने भिंडरावाले को बताया था ‘शहीद,’ लानत-मलानत होने के बाद सफाई में कही यह बात
3 प्यार की पिच पर कई बार बोल्ड हुए वसीम अकरम, सुष्मिता सेन से इस कारण टूटा था रिश्ता
ये पढ़ा क्या?
X