ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तान का दौरा करने से न्‍यूजीलैंड क्रिकेट का इनकार, PCB को तगड़ा झटका

श्रीलंकाई टीम पर पाकिस्तान में 2009 में हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान में कई टीमों ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला था। मई-2015 में आखिरकार जिम्बाब्वे ने पाकिस्तान का दौरा किया, लेकिन इस सीरीज के दौरान भी गद्दाफी स्टेडियम में एक छोटा सा ब्लास्ट हो गया था।

Author August 1, 2018 11:46 AM
अभ्यास करते न्यूजीलैंड के क्रिकेटर्स (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की उनके देश का दौरा करने की अपील को खारिज कर दिया है। पीसीबी ने किवी बोर्ड से टी-20 सीरीज के लिए पाकिस्तान का दौरा करने की दरख्वास्त की थी, जिसे एनजेडसी ने सुरक्षा कारणों का हवाला देकर मना कर दिया। न्यूजीलैंड अक्टूबर-नवंबर में संयुक्त अरब अमिरात (यूएई) में पाकिस्तान के खिलाफ तीन टेस्ट, तीन वनडे और इतने ही टी-20 मैचों की सीरीज खेल सकता है। हालांकि इस संबंध में कार्यक्रम की घोषणा नहीं हुई है।

पीसीबी को उम्मीद है कि वो न्यूजीलैंड को पाकिस्तान में टी-20 सीरीज खेलने के लिए राजी कर लेगा। ‘न्यूजहब’ ने एनजेडसी के चेयरमैन ग्रेग बार्केले के हवाले से लिखा है, “इसमें कोई शक नहीं है कि पीसीबी निराश होगा। वह न्यूजीलैंड जैसे देश का उनके देश में दौरा करने के माध्यम से अपने देश में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को बहाल करने की कोशिश में हैं। इसलिए वो हमारे मना करने से निराश होंगे, लेकिन वो अच्छे लोग हैं। मुझे लगता है कि वो हमारे फैसले को खुले दिल से स्वीकार करेंगे।”

श्रीलंकाई टीम पर पाकिस्तान में 2009 में हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान में कई टीमों ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला था। मई-2015 में आखिरकार जिम्बाब्वे ने पाकिस्तान का दौरा किया, लेकिन इस सीरीज के दौरान भी गद्दाफी स्टेडियम में एक छोटा सा ब्लास्ट हो गया था। पाकिस्तान ने क्रिकेट बहाली की फिर कोशिश की और फाफ डु प्लेसिस के नेतृत्व में वर्ल्ड इलेवन ने पाकिस्तान का दौरा किया। इसी साल अप्रैल में वेस्टइंडीज टीम भी पाकिस्तान के दौर पर तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलने आई थी।

वेस्टइंडीज द्वारा पाकिस्तान का दौरा करने को लेकर बार्केले ने कहा, ‘मैं वेस्टइंडीज द्वारा लिए गए फैसले पर या उसकी प्रक्रिया पर किसी तरह का कोई कमेंट नहीं करना चाहता। हो सकता है कि कई बार समय भी बदल जाता है। मैं केवल इतना जानता हूं कि हम एक पूरी प्रक्रिया से गुजरते हैं और मैं अपने पाकिस्तान न जाने के फैसले पर टिका हूं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App