scorecardresearch

न्यूजीलैंड के ड्रेसिंग रूम में ‘ब्लैक एंड व्हाइट’ का खेल, कीवी दिग्गज ने किताब में खुद को बताया नस्लवाद का शिकार; बताया 16 साल तक क्यों साधी रही चुप्पी

सामोन मूल के पूर्व खिलाड़ी ने अपनी पुस्तक, रॉस टेलर: ब्लैक एंड व्हाइट में खुलासा किया है कि कैसे उन्होंने और अन्य साथियों ने श्वेत खिलाड़ियों का असंवेदनशील “मजाक” सहन किया।

न्यूजीलैंड के ड्रेसिंग रूम में ‘ब्लैक एंड व्हाइट’ का खेल, कीवी दिग्गज ने किताब में खुद को बताया नस्लवाद का शिकार; बताया 16 साल तक क्यों साधी रही चुप्पी
रॉस टेलर। (फाइल फोटो)

न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर रॉस टेलर ने देश के क्रिकेट में नस्लवाद के मुद्दे को उठाया है। कीवी टीम के लिए टेस्ट और एकदिवसीय प्रारूप में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बनने के बाद टेलर ने संन्यास लिया। सामोन मूल के पूर्व खिलाड़ी ने अपनी पुस्तक, रॉस टेलर: ब्लैक एंड व्हाइट में खुलासा किया है कि कैसे उन्होंने और अन्य साथियों ने श्वेत खिलाड़ियों का असंवेदनशील “मजाक” सहन किया। उन्होंने यह भी बताया कि क्यों उन्होंने इतने दिनों तक चुप्पी साधे रखी।

टेलर ने बताया है कि कई बार ऐसा होता था कि उनके खराब शॉट खेलने पर काफी गंदे श्ब्दों का इस्तेमाल किया जाता, लेकिन बाकी बल्लेबाजों के साथ ऐसा नहीं होता था। उन्होंने कहा, “एक साथी खिलाड़ी मुझसे कहता था रॉस आप आधे अच्छे आदमी हैं, लेकिन कौन सा आधा अच्छा है? आप नहीं जानते कि मैं क्या कह रहा हूं।’ मैं जानता था।” उन्होंने कहा कि अन्य खिलाड़ी भी ऐसा करते थे।

रेस कार्ड खेलने का आरोप लगाया जाता

टेलर ने आगे कहा, ” न्यूजीलैंड का श्वेत खिलाड़ी इन टिप्पणियों को सुनकर सोचता होगा कि ठीक है यह सिर्फ एक मजाक ही तो है। लेकिन वह इसे श्वेत व्यक्ति के रूप में सुन रहा है और यह उसके जैसे लोगों को नहीं कहा जा रहा है। ऐसे में कोई उन्हें रोकता टोकता नहीं था। जिम्मेदारी उसपर थी जिसपर निशाना साधा जा रहा था। कभी-कभी लगता था मुद्दा उठाना चाहिए, लेकिन इस बात कि चिंता होती थी कि आप एक बड़ी समस्या पैदा करेंगे या रेस कार्ड खेलने का आरोप लगाया जाएगा। इसे नजरअंदाज करना आसान था, लेकिन क्या ऐसा करना सही है?”

पूर्व मैनेजर और कोच ने की थी नस्लवादी टिप्पणियां

टेलर ने अपनी किताब में यह भी कहा है कि न्यूजीलैंड टीम के एक पूर्व मैनेजर और कोच ने अनजाने में नस्लवादी टिप्पणियां थीं। मैनेजर ने टेलर की पत्नी विक्टोरिया को बताया कि उनके अनुसार माओरी और प्रशांत द्वीप के खिलाड़ियों को पैसे के प्रबंधन में समस्या होती है और उन्होंने अपनी सहायता की पेशकश की।

टिप्पणी से होगी निराशा

टेलर ने कहा कि 2012 से छह साल तक न्यूजीलैंड की पुरुष टीम का मार्गदर्शन करने वाले पूर्व कोच माइक हेसन ने एक बार अपने क्लीनर के बारे में बताया, जो सामोन थी। उन्होंने कहा कि वह एक मेहनती और भरोसेमंद महिला है। मैंने बस इतना ही कहा ओह, कूल। उन्होंने कहा, “मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि अधिकारी और जो लोग मजाक में शामिल थे, उन्हें यह जानकर निराशा होगी कि उनकी टिप्पणी से क्या होता है।”

ऐसा लगता था अलग तरीके से देखा जा रहा है

टेलर ने आगे कहा, “मैं स्पष्ट कर दूं कि मैंने एक मिनट के लिए भी कभी नहीं सोचा कि उन्होंने नस्लवादी दृष्टिकोण से टिप्पणी की। मुझे लगता है कि वे असंवेदनशील थे और उनमें खुद को दूसरे व्यक्ति के स्थान पर रखने रखकर सोचने की कमी थी। उनके लिए यह सिर्फ एक मजाक था, लेकिन जिनपर निशाना साधा जाता था उनको लगता था कि उन्हें अलग तरह से देखा जा रहा है।”

रॉस टेलर से बात करेगा एनजेडसी

न्यूजीलैंड के एक प्रवक्ता ने न्यूज़ीलैंड हेराल्ड को बताया, “एनजेडसी नस्लवाद की निंदा करता है। न्यूजीलैंड मानवाधिकार आयोग के ‘जातिवाद को लेकर अभियान का समर्थक है। रॉस के साथ इस तरह के व्यवहार से बहुत निराश है। हम निश्चित रूप से मामले पर चर्चा करने के लिए रॉस से संपर्क करेंगे।”

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.