‘अब मेडल आ गया तो सारे कार्यक्रम अभी कर दो’, जानिए क्यों नाराज हुए गोल्डेन ब्वॉय नीरज चोपड़ा; किस बात का है उन्हें मलाल

टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचने वाले भारत के गोल्डेन ब्वॉय नीरज चोपड़ा ने पूरे देश को जहां खुशी दी है। वहीं खुद वे नाखुश नजर आ रहे हैं। उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान अपनी चिंता जताते हुए कहा कि उन्हें मलाल है कि वे कई ग्लोबल इवेंट्स में हिस्सा नहीं ले पा रहे।

neeraj-chopra-unhappy-for-continuous-programs-after-returning-from-tokyo-olympics-due-to-which-forced-to-skip-few-international-events
नीरज चोपड़ा टोक्यो से लौटने के बाद लगातार कार्यक्रमों में व्यस्त हैं, उन्हें प्रैक्टिस का भी समय नहीं मिल पा रहा है (Source: Twitter)

भारत के गोल्डेन ब्वॉय नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचकर पूरी दुनिया में तिरंगे का मान बढ़ाया है। देश लौटने पर उनका जोरदार स्वागत किया गया और उसके बाद से अब तक लगातार उन्हें अलग-अलग कार्यक्रमों में सम्मानित किया जा रहा है। लेकिन वे परेशान हैं और उन्हें इस वक्त किसी बात का मलाल भी है।

जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने टोक्यो में ओलंपिक इतिहास में भारत के लिए पहली बार ट्रैक एंड फील्ड इवेंट में मेडल जीता। उनकी इस उपलब्धि के बाद पूरे देश में जश्न मना। लेकिन खुद नीरज इस जीत तक ही नहीं सीमित रहना चाहते हैं। उनका मानना है कि अभी उनका सफर खत्म नहीं हुआ है और अभी उन्हें और मेडल जीतने हैं।

नीरज चोपड़ा ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान द टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा कि,’अटेंशन मिलना सही है, लेकिन इस महीने के अंत में डायमंड लीग कॉम्पिटिशन था। मैंने उसमें हिस्सा लेने के लिए सोचा था, लेकिन कई कार्यक्रमों का निमंत्रण आने की वजह से मेरी ट्रेनिंग पूरी तरह रुक गई।’

‘अब मेडल आ गया तो सारे कार्यक्रम अभी कर दो’

उन्होंने आगे कहा कि,’अब मुझे लग रहा कि मेरी फिटनेस गड़बड़ हो गई है और मैं परफेक्शन से दूर हूं। मैं ठीक से नहीं खेल पा रहा हूं। इसलिए मुझे डायमंड लीग को स्किप करना पड़ा। मैंने इस साल 2 से 3 इवेंट में भाग लेने का सोचा था लेकिन डायमंड लीग मिस होने का मुझे मलाल है। ऐसा नहीं होना चाहिए कि अब मेडल आ गया तो सारे कार्यक्रम अभी कर दो। फिर एक महीने बाद सब शांत हो जाओ।’

चोपड़ा ने ये भी कहा कि,’भारत के स्पोर्ट्स में कुछ चीजें बदलने की जरूरत है। कई ओलिंपिक चैंपियंस डायमंड लीग में हिस्सा ले रहे हैं। उनका सीजन जारी है। हमें भी ग्लोबल लेवल पर सोचने की जरूरत है। डायमंड लीग जैसे ग्लोबल इवेंट्स में परफॉर्म कर के ही आप खुद को बेहतर कर सकेंगे।’

गौरतलब है हाल ही में संपन्न हुए टोक्यो ओलंपिक में भारत ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 7 मेडल अपने नाम किए। इसमें एक स्वर्ण, दो रजत और कांस्य पदक शामिल हैं। भारत के लिए टोक्यो में एकमात्र स्वर्ण भाला फेंक में नीरज चोपड़ा ने जीता था। भारत के लिए इससे पहले एक स्पर्धा में इकलौता स्वर्ण जीतने वाले खिलाड़ी थे शूटर अभिनव बिंद्रा। अब नीरज चोपड़ा ने भी ये उपलब्धि अपने नाम दर्ज कर ली है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट