नीरज चोपड़ा ने क्रिकेटर बनने के लिए लगाई अनोखी शर्त, टोक्यो में कट्टर प्रतिद्वंदी को गले लगाना चाहते थे गोल्डेन ब्वॉय

भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले जैवलिन थ्रोअर ने क्रिकेट में तेज गेंदबाज बनने के लिए एक शर्त रखी है। इसके अलावा उन्होंने अपने कट्टर प्रतिद्वंदी कह जाने वाले जोहानस वेटर को टोक्यो ओलंपिक में गले लगाने की इच्छा का भी जिक्र किया है।

neeraj-chopra-answers-in-express-e-adda-on-coming-to-cricket-and-wished-to-hug-johannes-vetter-rajeev-sethi-awkward-question
Express e-adda के दौरान टोक्यो ओलंपिक के गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा ने की बातचीत

टोक्यो ओलंपिक में भारत के लिए इकलौता गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा लगातार अलग-अलग बातों को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। इसी कड़ी में एक बार फिर भारत के गोल्डेन ब्वॉय का नाम सुर्खियों में है। दरअसल इंडियन एक्सप्रेस के प्रोग्राम एक्सप्रेस ई-अड्डा में क्रिकेट में आने से जुड़े सवाल का दिलचस्प जवाब दिया। वहीं जैवलिन में अपने कट्टर प्रतिद्वंदी रहे जर्मनी के जोहानस वेटर (Johannes Vetter) को गले लगाने की इच्छा का जिक्र किया है।

एक्सप्रेस ई-अड्डा में नीरज चोपड़ा से हरियाणा क्रिकेट एसोसिएशन के प्रमुख अनिरुद्ध चौधरी ने अनोखा सवाल पूछ डाला। चौधरी ने चोपड़ा से पूछा कि जैवलिन फेंकने और गेंद फेंकने में समानतना होती है। क्या आप प्रोफेशनल फास्ट बॉलिंग में खुद को आजमाना चाहेंगे।

इस सवाल का टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाले नीरज चोपड़ा ने बहुत ही मजाकिया अंदाज में जवाब दिया। उन्होंने कहा कि,’फास्ट बॉलिंग मैंने ट्राई किया है लेकिन जो तकनीक होती है वैसे मुझे फेंकनी नहीं आती है। लेकिन हरियाणा में बोलते हैं वो भट्टा (बट्टा) बॉलिंग अगर आप क्रिकेट में वो अलाउ कर दो तो मैं आ सकता हूं क्रिकेट में।’

इसके अलावा ई-अड्डा के इस सत्र में नीरज चोपड़ा के कट्टर प्रतिद्वंदी कहे जाने वाले जर्मनी के जोहानस वेटर ने भी अपना वीडियो संदेश भेजा। उन्होंने नीरज को शुभकामनाएं दी। जिसके जवाब में नीरज ने बताया कि,’ये उनके लिए बेस्ट मैसेज है।’

वेटर को गले लगाने की थी इच्छा

उन्होंने आगे बताया कि,’जब वेटर फाइनल में पहले राउंड में बाहर हुआ तो मुझे विश्वास नहीं हुआ। मैं उसे बहुत महान एथलीट मानता हूं। जब वो बाहर जा रहे थे मेरा मन था उनसे बात करूं, उन्हें गले लगाउं और उन्हें सांत्वना दूं। लेकिन मैं ऐसा कर नहीं पाया। मैं चाहुंगा कि हम दोनों अगली बार जरूर प्रतिस्पर्धा करें और मेडल जीतें।’

वहीं नीरज चोपड़ा ने वेटर को अपना अच्छा दोस्त बताया और कहा कि हम सब मैदान के अंदर प्रतिद्वंदी होते हैं लेकिन मैदान के बाहर हम सब दोस्त होते हैं। आपको बता दें हाल ही में नीरज चोपड़ा और पाकिस्तानी जैवलिन थ्रोअर अरशद नदीम के बीच किसी बात को बढ़ा-चढ़ाकर कंट्रोवर्सी का रूप दे दिया गया था। जिस पर स्पष्टीकरण के लिए नीरज चोपड़ा ने खुद वीडियो जारी किया था।

गौरतलब है कि टोक्यो ओलंपिक में नीरज चोपड़ा ने जैवलिन थ्रो में स्वर्ण पदक जीतकर ओलंपिक के इतिहास में पहली बार भारत को ट्रैक एंड फील्ड इवेंट में मेडल दिलाया है। वहीं जब ये मेडल गोल्ड हो तब इसकी खुशी कई गुना ज्यादा हो गई। जिसका देश आज लगभग एक महीने बाद भी जश्न मना रहा है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट