ताज़ा खबर
 

भारत-पाक सीरीज को शरीफ से मंजूरी मिलने के बाद BCCI को है सरकार की हां का इंतज़ार

भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को अभी सरकार की मंजूरी नहीं मिली है।

Author करांची | November 27, 2015 12:27 AM

भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को अभी सरकार की मंजूरी नहीं मिली है। बोर्ड सरकार की मंजूरी का इंतजार कर रहा है। दोनों देशों के बीच अगले महीने सीरीज श्रीलंका में खेली जानी है। दूसरी तरफ, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भारत के खिलाफ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज को मंजूरी दे दी है।

आइपीएल अध्यक्ष राजीव शुक्ला ने भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट की बहाली की पैरवी करते हुए कहा कि खेल को राजनीतिक विवादों में नहीं घसीटा जाना चाहिए। शुक्ला ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि हमारी सरकार भी मंजूरी दे देगी। दोनों बोर्ड श्रीलंका में खेलने के लिए राजी हो गए हैं।

मकसद दोनों देशों के बीच क्रिकेट की बहाली का है। द्विपक्षीय क्रिकेट की बहाली के विरोध के बारे में पूछने पर उन्होंने एक समाचार चैनल से कहा कि क्रिकेट को राजनीति से अलग रखा जाना चाहिए। वाजपेयी सरकार ने बदतर हालात में भी क्रिकेट की बहाली को मंजूरी दी थी। हमने अपनी टीम पाकिस्तान भेजी थी। मुझे लगता है कि हमें पाकिस्तान से खेलना चाहिए।

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 15750 MRP ₹ 29499 -47%
    ₹2300 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹2000 Cashback

दूसरी तरफ, पीसीबी को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भारत के खिलाफ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज के लिए मंजूरी दे दी है। अंतर प्रांत समन्वयक मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने माल्टा के दौरे पर रवाना होने से पहले मंजूरी दे दी। सूत्र ने बताया कि प्रधानमंत्री ने पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान के पत्र का जवाब दे दिया है और उन्होंने कहा है कि मौजूदा सुरक्षा हालात में पाकिस्तान को श्रीलंका में एक छोटी सीरीज खेलनी चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि विदेशी टीमें पाकिस्तान में नहीं आ रही है और भारत में पाकिस्तानियों की सुरक्षा की स्थिति स्पष्ट नहीं है लिहाजा श्रीलंका अच्छा विकल्प है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App