कबड्डी का नेशनल प्लेयर निकला हथियारों का तस्कर, तालिबान ने काटा महिला खिलाड़ी का सिर

कबड्डी का राष्ट्रीय खिलाड़ी हथियारों की तस्करी के मामले में गुना से गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है कि अफगानिस्तान की एक महिला खिलाड़ी का तालीबानियों ने सिर काट दिया।

national-kabaddi-player-arrested-in-case-of-arms-and-ammunition-smuggling-also-taliban-bareheaded-women-volleyball-player-in-afghanistan
गुना पुलिस द्वारा गिरफ्तार हथियार तस्कर कबड्डी प्लेयर (बाएं) और महिला वॉलीबॉल प्लेयर की वायरल फोटो (दाएं) (सोर्स- ट्विटर)

प्रो-कबड्डी लीग में बंगाल वॉरियर्स की तरफ से डिफेंडर के तौर पर खेल चुके नेशनल प्लेयर रिंकू जाट को पुलिस ने हथियार तस्करी के मामले में गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक रिंकू को मध्यप्रदेश के गुना में अवैध हथियारों के साथ पकड़ा गया। उसके पास से 5 पिस्टल बरामद हुई हैं।

आपको बता दें रिंकू नेशनल लेवल का कबड्डी प्लेयर है और राष्ट्रीय टीम में भी खेल चुका है। बंगाल वॉरियर्स के अलावा 2018 के पीकेएल सीजन में वे दबंग दिल्ली की टीम से भी खेला था।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो आरोपी बुरहानपुर से पिस्टल खरीदकर लाए थे। इस पूरे मामले पर एसपी राजीव कुमार मिश्रा ने बताया कि,’बुधवार को सूचना मिली थी कि गुना से कुछ तीन-चार लोग पिस्टल सहित कई हथियार लेकर शिवपुरी की ओर आ रहे हैं। पुलिस की टीम ने सूचना के अनुसार म्याना ओवरब्रिज पर नाकाबंदी कर दी। कुछ देर में जब उन लोगों की क्रेटा कार वहां पहुंची तो पुलिस ने उसे घेर लिया।’

एसपी ने आगे बताया कि,’कार सवार 4 लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। जिनको गिरफ्तार किया गया है उनके नाम रामप्रसाद उर्फ दीपक (33), रिंकू जाट (22), आमिर खान (26) और महेन्द्र रावत (47) बताए जा रहे हैं। पूछताछ में पता चला कि ये लोग बुरहानपुर के सिगलीगरों से पिस्टल लेकर आए थे।’

तालिबानियों ने काटा महिला प्लेयर का सिर

अफगानिस्तान में जबसे तालीबान का कब्जा हुआ है तब से ही महिला खिलाड़ियों के लिए पाबंदियां बढ़ गई हैं। इसी कड़ी में बुधवार को अफगानिस्तान से एक दिल दहला देने वाली क्रूरता की घटना सामने आई है। तालीबानियों ने अफगानिस्तान की जूनियर महिला वॉलीबॉल टीम की प्लेयर का सिर कलम कर दिया है |

टीम के कोच ने एक इंटरव्यू में इसका खुलासा करते हुए इसकी जानकारी दी। कोच ने इंटरव्यू में बताया कि महजबीन हकीमी नाम की प्लेयर को अक्टूबर के शुरुआत में तालिबान द्वारा मार दिया गया था। कोच के मुताबिक, अगस्त में जब तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया तब टीम की एक-दो सदस्य ही देश से बाहर निकल पाई थीं।

बुधवार को जब ये खबर सामने आई तो देखते ही देखते सोशल मीडिया पर जमकर वायरल होने लगी। कई लोग इसको लेकर पोस्ट करने लगे। वहीं कई लोगों ने एक तस्वीर भी शेयर की जिसमें इस महिला प्लेयर की तस्वीर भी सामने आई।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट