ताज़ा खबर
 

भारत-श्रीलंका वनडे सीरीज में अब नहीं गाया जाएगा राष्ट्रगान, जानिए क्यों?

भारत का राष्ट्रगान लिखने वाले गुरुदेव रबीन्द्रनाथ टैगोर ने बंगाली में श्रीलंका का राष्ट्रगान लिखा था, जिसका बाद में स्थानीय भाषा सिंहली में अनुवाद किया गया था।

राष्ट्रगान गाते भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी।

भारत और श्रीलंका के बीच खेली जा रही वनडे सीरीज के बाकी बचे मैचों में राष्ट्रगान नहीं गाया जाएगा। रिपोर्ट्स् के मुताबिक श्रीलंकाई टीम के मीडिया मैनेजर ने बताया कि वनडे सीरीज के बाकी बचे मैचों की शुरुआत में दोनों देशों के राष्ट्रगान नहीं गाए जाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि श्रीलंका में वह इस सिद्धांत पर चलते हैं कि किसी भी सीरीज के पहले मैच में ही राष्ट्रगान गाया जाता है। भारत और श्रीलंका के बीच गॉल टेस्ट में दोनों देशों के राष्ट्रगान बजाए गए थे, लेकिन परंपरा के मुताबिक दूसरे और तीसरे टेस्ट मैचों में एेसा नहीं किया गया। श्रीलंकाई टीम के मीडिया मैनेजर, दिनेश रत्नसिंघम ने कहा, हमने हर प्रारूप के पहले मैच की शुरुआत में ही राष्ट्रगान बजाए जाने की परंपरा बनाई है। 6 सितंबर को कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम होने वाले भारत-श्रीलंका टी20 मैच में राष्ट्रगान बजाया जाएगा। दिलचस्प बात है कि भारत का राष्ट्रगान लिखने वाले गुरुदेव रबीन्द्रनाथ टैगोर ने बंगाली में श्रीलंका का राष्ट्रगान लिखा था, जिसका बाद में स्थानीय भाषा सिंहली में अनुवाद कर दिया गया।

बता दें कि भारत और श्रीलंका के बीच रविवार को खेले गए पहले वनडे मैच में राष्ट्रगान बजाया गया था। इस मैच में टीम इंडिया ने श्रीलंका को 9 विकेट से मात दी थी। भारत की ओर से शिखर धवन ने शानदार 132 रन बनाए थे। कप्तान विराट कोहली ने उनका बखूबी साथ देते हुए 82 रनों की पारी खेली थी। भारत का इकलौता विकेट रोहित शर्मा के रूप में गिरा था। धवन और विराट के नाम कई रिकॉर्ड्स भी दर्ज हुए थे। वह अब श्रीलंका के खिलाफ दूसरा सबसे तेज वनडे शतक जड़ने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। यह धवन के करियर की 11वीं सेंचुरी थी।

वह अब विश्व क्रिकेट में 40वें और भारत के 9वें एेसे खिलाड़ी बन गए थे, जिन्होंने वनडे क्रिकेट में 11 सेंचुरी जड़ी हैं। अन्य 39 खिलाड़ियों में तीन ही एेसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने धवन से कम पारियां खेलकर 11 शतक जड़े हैं। दूसरी ओर कप्तान कोहली ने भी लक्ष्य का पीछा करते हुए 4000 रन पूरे कर लिए हैं।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App