ताज़ा खबर
 

श्रीनिवासन को अब आईसीसी में बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व नहीं करना चाहिए: वर्मा

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग के याचिकाकर्ता आदित्य वर्मा ने लोढ़ा समिति के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि बीसीसीआई को अब आईसीसी में अपने प्रतिनिधि के रूप में...

Author July 14, 2015 10:45 PM
बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन। (फाइल फोटो)

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग के याचिकाकर्ता आदित्य वर्मा ने लोढ़ा समिति के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि बीसीसीआई को अब आईसीसी में अपने प्रतिनिधि के रूप में एन श्रीनिवासन के नामंकन को रद्द कर देना चाहिए।

पूर्व मुख्य न्यायधीश आर एम लोढ़ा की अगुवाई वाली उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित तीन सदस्यीय समिति ने आज दो बार के चैंपियन सीएसके और पहले आईपीएल के विजेता राजस्थान रायल्स को दो साल के लिये निलंबित कर दिया जबकि उनके सहमालिकों क्रमश: गुरुनाथ मयप्पन और राज कुंद्रा को खेल को बदनाम करने के लिये क्रिकेट मैचों से संबंधित गतिविधियों में शामिल होने के लिये आजीवन निलंबित कर दिया गया।

गैरमान्यता प्राप्त बिहार क्रिकेट संघ के सचिव वर्मा ने कहा, ‘‘मैं न्यायमूर्ति लोढ़ा समिति के फैसले से बहुत खुश हूं। जिन लोगों को खेल को बदनाम किया बीसीसीआई को उन्हें दूर कर देना चाहिए। मैं चाहता हूं कि बीसीसीआई विशेष समिति का गठन करे और एन श्रीनिवासन (पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष) को हमेशा के लिये भारतीय क्रिकेट बोर्ड से बाहर कर दे।’’

वर्मा ने कहा, ‘‘मैं इस फैसले के बाद उनका (श्रीनिवासन) आईसीसी में बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व समाप्त करने का आग्रह भी करता हूं। यदि बीसीसीआई ने मेरी मांग स्वीकार नहीं की तो मैं इस मसले को लेकर बीसीसीआई को अदालत में जाऊंगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App