IPL मीडिया राइट्स: BCCI को 35 हजार करोड़ मिलने की उम्मीद, मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो, फेसबुक और अमेजन भी हैं अधिकार पाने की रेस में

आईपीएल के मीडिया राइट्स ई-ऑक्शन के जरिए बेचे जाएंगे। मीडिया राइट्स पांच साल के लिए दिए जाएंगे। आईपीएल के मीडिया राइट्स कई छोटे-छोटे हिस्सों में बंटे हैं। इसके तहत भारत में प्रसारण अधिकार, ग्लोबल प्रसारण, टीवी राइट्स और डिजिटल राइट्स के लिए बोली लगेगी।

IPL BID MEDIA RIGHTS Mukesh Ambani Reliance Jio Facebook Amazon Sony and Zee
बीसीसीआई को आईपीएल के मीडिया राइट्स से अच्छी खासी धनराशि प्राप्त होती है। (सोर्स- इंडियन प्रीमियर लीग)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के बीच में ही अगले 5 साल के लिए इस टूर्नामेंट के मीडिया राइट्स बेचने को टेंडर जारी करने का ऐलान किया है। बीसीसीआई ने कहा कि 25 अक्टूबर को वह 2023 से 2027 के आईपीएल के लिए मीडिया राइट्स के लिए टेंडर जारी करेगा।

अभी स्टार इंडिया के पास आईपीएल के मीडिया राइट्स हैं। उसने 2017 में 2022 तक के मीडिया राइट्स 16347 करोड़ रुपए में हासिल किए थे। इस बार बीसीसीआई को मीडिया राइट्स से 30 से 35 हजार करोड़ रुपए मिलने तक की उम्मीद है। फाइनेंशियल टाइम्स की खबर के मुताबिक, मीडिया राइट्स पाने की रेस में मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो, फेसबुक, अमेजन जैसी दिग्गज कंपनियां भी शामिल हैं।

इनके अलावा सबसे बड़े बोलीदाता रूप में सोनी और जी एंटरटेनमेंट का भी नाम आ रहा है। बताया जा रहा है कि दोनों मिलकर बोली लगाएंगे। अभी आईपीएल के एक मैच के प्रसारण अधिकार की कीमत 54.5 करोड़ रुपए है। स्टार इंडिया बीसीसीआई को इतनी ही राशि दे रहा है। माना जा रहा है कि अगले टेंडर में यह रकम बेस प्राइस होगी।

बीसीसीआई जो आईपीएल की गर्वनिंग बॉडी है, इस महीने के अंत में टेंडर जारी कर सकता है। जी एंटरटेनमेंट में मर्जर्स और अधिग्रहण के प्रमुख विकास सोमानी के हवाले से फाइनेंशियल टाइम्स ने लिखा, निश्चित रूप से खेल एक ऐसा क्षेत्र है जिस पर गंभीरता से विचार किया जाना चाहिए। यह न केवल हमारे लक्षित दर्शकों का विस्तार करेगा, बल्कि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हमारी सामग्री की पेशकश को भी समृद्ध करेगा।

दस से अधिक भाषाओं में लगभग 75 समाचार, मनोरंजन, खेल और मूवी चैनलों के साथ सोनी-जी एलायंस इस क्षेत्र में भारत का सबसे बड़ा प्लेयर बन गया है। उसकी बाजार हिस्सेदारी 27 प्रतिशत अधिक है। वहीं, डिज्नी के स्टार इंडिया की बाजार हिस्सेदारी 24 प्रतिशत है।

आईपीएल के मीडिया राइट्स ई-ऑक्शन के जरिए बेचे जाएंगे। मीडिया राइट्स पांच साल के लिए दिए जाएंगे। आईपीएल के मीडिया राइट्स कई छोटे-छोटे हिस्सों में बंटे हैं। इसके तहत भारत में प्रसारण अधिकार, ग्लोबल प्रसारण, टीवी राइट्स और डिजिटल राइट्स के लिए बोली लगेगी। कंपनियां इनके लिए अलग-अलग भी बोली लगा सकती हैं और एक साथ भी सभी राइट्स खरीद सकती हैं।

आईपीएल 2021 के बीच ही मीडिया राइट्स के टेंडर जारी करने की घोषणा करने के पीछे एक और कहानी सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बीसीसीआई ने आईसीसी की मंशा भांपते हुए ऐसा किया है। कुछ समय पहले आईसीसी ने 2024 से 2031 तक की अवधि में वर्ल्ड कप, चैंपियंस ट्रॉफी और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के कार्यक्रम की जानकारी दी थी।

आईसीसी की योजना है कि वह 2024 से 2031 के बीच हर साल एक ग्लोबल टूर्नामेंट कराए। इसके जरिए वह अपने ब्रॉडकास्टिंग राइट्स के लिए मोटी रकम की उम्मीद कर रहा है। बीसीसीआई को लगता है कि कहीं उसके हाथ से मोटी रकम न निकल जाए।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट