ताज़ा खबर
 

संन्यास के बाद भी महेंद्र सिंह धोनी ने रचा इतिहास, दो बार यह अवार्ड जीतने वाले पहले क्रिकेटर बने

महेंद्र सिंह धोनी 2011 में भी इस पुरस्कार से सम्मानित किए गए थे। आईसीसी ने पहली बार 2011 में ही किसी क्रिकेटर को स्पिरिट ऑफ द क्रिकेट अवार्ड के लिए चुना था। उससे पहले यह अवार्ड किसी एक क्रिकेटर की बजाय किसी टीम को दिया जाता था।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: December 28, 2020 7:14 PM
MS DHONI BCCI ICC AWARDSभारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने इस तस्वीर के जरिए महेंद्र सिंह धोनी को दशक का आईसीसी स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवार्ड के लिए चुने जाने पर खुशी जाहिर की है। (सोर्स- ट्विटर बीसीसीआई)

महेंद्र सिंह इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं, लेकिन खिलाड़ियों और फैंस के बीच उनका जलवा कायम है। इसी के चलते उन्होंने फिर इतिहास रचा। धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) का दशक का खेल भावना पुरस्कार जीता। प्रशंसकों ने 2011 में नॉटिंघम टेस्ट में इयान बेल के अजीब हालात में रन आउट होने के बाद उन्हें वापस बुलाने के लिए धोनी को इस पुरस्कार के लिए चुना।

यह पुरस्कार जीतने के साथ ही धोनी ने इतिहास रच दिया। महेंद्र सिंह धोनी 2011 में भी इस पुरस्कार से सम्मानित किए गए थे। आईसीसी ने पहली बार 2011 में ही किसी क्रिकेटर को स्पिरिट ऑफ द क्रिकेट अवार्ड के लिए चुना था। उससे पहले यह अवार्ड किसी एक क्रिकेटर की बजाय किसी टीम को दिया जाता था। आईसीसी का यह पुरस्कार अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में खेल के मैदान पर उस एक्शन, मूवमेंट, हावभाव या फैसले के लिए दिया जाता है, जो सबसे अच्छी तरह से क्रिकेट की स्पिरिट को दर्शाता है।

धोनी के अलावा भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को भी इस पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। कोहली को साल 2019 के लिए इस पुरस्कार के लिए चुना गया था। सबसे ज्यादा बार यह पुरस्कार भारतीय क्रिकेटर्स ने ही जीता है। उसके बाद न्यूजीलैंड और इंग्लैंड का नंबर है।

न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के क्रिकेटर्स अब तक दो-दो बार यह पुरस्कार जीत चुके हैं। इसमें दोनों बार इंग्लैंड की महिला क्रिकेटर्स के हिस्से यह पुरस्कार आया है। इन खिलाड़ियों को मिले हैं आईसीसी स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवार्ड

खिलाड़ी देश साल
महेंद्र सिंह धोनी भारत 2011
डेनियल विटोरी न्यूजीलैंड 2012
महेला जयवर्धने श्रीलंका 2013
कैथरीन ब्रायंट इंग्लैंड 2014
ब्रेंडन मैकुलम न्यूजीलैंड 2015
मिस्बाह उल हक पाकिस्तान 2016
आन्या श्रुबसोल इंग्लैंड 2017
केन विलियमसन न्यूजीलैंड 2018
विराट कोहली भारत 2019
महेंद्र सिंह धोनी (दशक का) भारत 2020

बता दें कि विराट कोहली ने दशक के सर्वश्रेष्ठ पुरुष क्रिकेटर के लिए सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी जीती। कोहली को दशक का सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर भी चुना गया। कोहली ने सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी के रेस में हमवतन रविचंद्रन अश्विन, इंग्लैंड के जो रूट, श्रीलंका के कुमार संगकारा, ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ, दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स, न्यूजीलैंड के केन विलियमसन को पीछे छोड़े। कोहली के अलावा ये सभी क्रिकेटर इस अवार्ड के लिए नॉमिनेट किए गए थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिशन सिंह बेदी के आगे ‘झुके’ DDCA अध्यक्ष रोहन जेटली, पूर्व कप्तान को बताया दिल्ली क्रिकेट का ‘भीष्म पितामह’
2 जगदीप धनखड़ से मुलाकात के बाद बीजेपी में जाने की अटकलों पर बोले सौरव गांगुली- गवर्नर मिलना चाहेंगे तो आप मिलेंगे ही
3 सचिन तेंदुलकर मेलबर्न टेस्ट में खराब अंपायरिंग से नाराज, ‘अंपायर्स कॉल’ पर उठाए सवाल; ICC की ये मांग
ये पढ़ा क्या?
X