सहवाग का चौंकने वाला खुलासा, चयनकर्ताओं ने कर दिया था कोहली को ड्रॉप, खत्म हो गया था करियर, फिर ऐसे धोनी की वजह से मिला मौका

सहवाग ने बताया कि भारतीय कप्तान विराट कोहली से 2012 में चयनकर्ता खुश नहीं थे और उन्हें ड्रॉप करने के बारे में सोच रहे थे। तब महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें ऐसा करने से रोका था और कोहली का करियर बचाया था।

virendra sehwag, BCCI, selectors, Virat Kohli, Virender Sehwag, Mahendra Singh Dhoni, rohit Sharma, IND VS Aus 2012, Ind vs aus, Ind VS SL, team India, BCCI, IPL 2021, CSK,
सहवाग ने बताया कि किस तरह पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने विराट कोहली का करियर बचाया था। (source: PTI)

भारतीय कप्तान विराट कोहली आज क्रिकेट के हर फॉर्मेट में जमकर रन बना रहे हैं। कोहली वनडे क्रिकेट में 10 हज़ार से ज्यादा रन बना चुके हैं, वहीं टी20 और टेस्ट में भी वे तेजी से रन बटोर रहे हैं। इसी बीच पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने एक चौंकने वाला खुलासा किया है।

एक इंटरव्यू में सहवाग ने बताया कि किस तरह पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने विराट कोहली का करियर बचाया था और उन्हें दूसरा मौका दिया था। सहवाग ने कहा “2012 में ऑस्ट्रेलिया के दौरे में कोहली ने कोई खास प्रदर्शन नहीं किया था। उन्होंने उस दौरे में 10.75 की औसत से रन बनाए थे। जिसके चलते चयनकर्ता कोहली को ड्रॉप करना चाहते थे। वे विराट की जगह रोहित शर्मा को टीम में शामिल करना चाहते थे।”

पूर्व बल्लेबाज ने आगे बताया ” चयनकर्ताओं के इस फैसले का धोनी ने विरोध किया और कोहली को एक और मौका देने की बात कही। जिसके बाद कोहली ने तीसरे टेस्ट में पहली पारी में 44 रन और दूसरी पारी में 75 रन की पारी खेली।” इस बात को कप्तान कोहली भी मानते हैं कि उनके करियर के शुरुआती दिनों में उन्हें महेंद्र सिंह धोनी ने सपोर्ट किया था और उन्हें टीम से ड्राप होने से बचाया था।

कोहली के अलावा रोहित शर्मा, रवीद्र जडेजा, रविचन्द्र अश्विन और सुरेश रैना जैसे कई ऐसे खिलाड़ी हैं। जिन्हें धोनी ने शुरुआती दिनों में सपोर्ट किया और उन्हें कई मौके दिये। आज ये सभी खिलाड़ी भारतीय टीम के परमानेंट सदस्या हैं।

वहीं यूवी ने भी एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि कोहली को 2011 विश्वकप के लिए रोहित से पहले तवज्जो दी गई थी। यूवी ने बताया था कि कोहली भारतीय टीम में साल 2008 में आए थे तभी उन्होंने दिखाया था कि, उनमें काफी संभावनाएं हैं। उन्हें जैसे ही मौके मिले उन्होंने उसे दोनों हाथों से लपका।

यूवी ने बताया “साल 2011 वनडे वर्ल्ड कप टीम में उन्हें इस वजह से मौका मिला था क्योंकि वो काफी युवा थे। उस वक्त रोहित शर्मा और विराट कोहली के बीच मुकाबला था, लेकिन कोहली रन बना रहे थे इस वजह से उन्हें मौका दिया गया। उसके बाद यानी 2011 वर्ल्ड कप बाद से अब तक वो काफी बदल चुके हैं।”

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X