ताज़ा खबर
 

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में दर्ज हैं 3 भारतीय क्रिकेटर्स के नाम, जानिए इनके कारनामे

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में भारतीय क्रिकेटर्स के नाम सबसे लंबा नेट-सेशन, सर्वाधिक उम्र में फर्स्‍ट क्‍लास डेब्‍यू और सबसे महंगे बैट का कीर्तिमान दर्ज है।

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में तीन भारतीय क्रिकेटर्स के नाम दर्ज हैं। (Photos: PTI/Express Archive)

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज होना बेहद सम्‍मान की बात माना जाता है। खेल में अक्‍सर ऐसे रिकॉर्ड बनते हैं जिसे कुछ समय में तोड़ दिया जाता है, मगर कुछ कीर्तिमान बेहद खास होते हैं और वे लंबे समय तक बरकरार रहते हैं। क्रिकेट के खेल के कई रिकॉर्ड भी गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स का हिस्‍सा हैं, जिनमें 3 भारतीय क्रिकेटर्स का नाम प्रमुख है। इन खिलाड़‍ियों ने अपने हुनर के बल पर कीर्तिमानों की इस लिस्‍ट में अपनी जगह बनाई है।

महेंद्र सिंह धोनी

सीमित ओवरों में भारत के सफलतम कप्‍तान रहे महेंद्र सिंह धोनी की बल्‍लेबाजी का लोहा पूरी दुनिया मानती है। मैदान पर अपने ‘कूल’ एटिट्यूड के लिए मशहूर धोनी को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में इसलिए जगह दी गई है क्‍योंकि उनका रीबॉक वाला बल्‍ला दुनिया का सबसे महंगा बैट है। इसी बैट से धोनी ने 2011 के वर्ल्‍ड कप फाइनल में छक्‍का लगाकर भारत को दूसरी बार ट्रॉफी जिताई थी।

लंदन में ‘ईस्‍ट मीट्स वेस्‍ट’ नाम के कार्यक्रम में धोनी का यह बैट आरके ग्‍लोबस शेयर्स ने 1 लाख पौंड (करीब 90,28,750 रुपये) में खरीदा था। इस फंड को धोनी की पत्‍नी साक्षी के फाउंडेशन द्वारा चैरिटी के लिए इस्‍तेमाल किया गया था।

विराट कोहली बने दुनिया के सबसे कमाऊ क्रिकेटर, कोई नहीं है टक्‍कर में

राजा महाराज सिंह

बॉम्‍बे के गवर्नर रहे राजा महाराज सिंह को क्रिकेट के प्रति अपने लगाव का देरी से एहसास हुआ। हालांकि इससे उन्‍हें अपना सपा पूरा करने में कोई बाधा नहीं आया। कठपुरा राजघराने से ताल्‍लुक करने वाले राजा महाराज सिंह ने 72 वर्ष और 192 दिन की आयु में प्रथम-श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया, जो विश्‍व में सर्वाधिक है। उनका नाम क्रिकेट इतिहास के सुनहरे अक्षरों में लिखा गया है।

सिंह गवर्नर्स इलेवन के कप्‍तान थे जिसका सामना कॉमनवेल्‍थ इलेवन से था। वह पहले दिन 9 नंबर पर बल्‍लेबाजी करने आए मगर सिर्फ 4 रनों के स्‍कोर पर स्लिप में कैच थमाकर पवेलियन वापस लौट गए। आउट होने के बाद उन्‍होंने पूरे मैच में फील्डिंग नहीं की, उनकी जगह पटियाला यदविंद्र सिंह ने टीम की कप्‍तानी की।

आज ही के दिन वनडे में पहली और इकलौती बार गोल्‍डन डक पर आउट हुए थे एबी डिविलियर्स, ये था गेंदबाज

विराग मारे

मुंबई में वड़ा पाव का स्‍टॉल लगाने वाले विराग ने क्रिकेट करिअर को आगे बढ़ाने के लिए पुणे का रुख किया। 24 साल की उम्र में विरोग गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराने में सफल हुए। 24 दिसंबर, 2015 को विराग ने क्रिकेट इतिहास के सबसे लंबे व्‍यक्तिगत नेट-सेशन का रिकॉर्ड बना दिया। इसके लिए विराग ने लगातार तीन दिन बल्‍लेबाजी की।

कार्वे नगर के महालक्ष्‍मी लॉन्‍स में खेलते हुए मारे ने 22 दिसंबर को नेट सेशन शुरू किया और 50 घंटे, 5 मिनट और 51 सेकेंड तक 2,247 ओवर्स (14,682 गेंदें) खेलीं। उन्‍होंने डेव न्‍यूमैन और रिचर्ड वेल्‍स का रिकॉर्ड तोड़ा जिन्‍होंने 48 घंटे तक बल्‍लेबाजी की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App