एमएस धोनी के पूर्व ओपनर ने कोरोना टीकाकरण से किया इनकार, घरेलू क्रिकेट में भी मुश्किल हुई वापसी की राह; इसलिए क्रिकेट से बनाई दूरी

चेन्नई सुपर किंग्स और भारतीय क्रिकेट टीम के बड़े खिलाड़ियों में से एक रहे तमिलनाडु के मुरली विजय ने कोरोना टीकाकरण से इनकार कर दिया है। साथ ही वे बायो-बबल में भी नहीं रहना चाहते हैं। यही कारण है कि वे क्रिकेट से दूर हैं।

ms-dhoni-opener-murali-vijay-denies-covid-vaccination-return-in-domestic-crickete-becomes-difficult-remains-away-from-syed-mushtaq-ali-trophy-2021-too
चेन्नई सुपर किंग्स की आईपीएल के दौरान की तस्वीर (सोर्स- Indian Express)

कोविड-19 टीकाकरण करवाने में हिचकिचाने वाले भारतीय क्रिकेटर मुरली विजय अपनी मर्जी से क्रिकेट से दूर रहे हैं। घरेलू क्रिकेट के लिए निकट भविष्य में उनका वापसी करना मुश्किल हो सकता है। बायो-बबल में नहीं रहना और कोरोना वैक्सीन नहीं लगावाने के कारण ही वे सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में तमिलनाडु की टीम का हिस्सा नहीं हैं।

इंडियन प्रीमियर लीग 2020 में वे एमएस धोनी की अगुआई वाली चेन्नई सुपर किंग्स की टीम में मौजूद थे। 37 वर्षीय मुरली विजय ने खुद को चयन के लिए अनुपलब्ध कर दिया था। क्योंकि वह ‘बायो-बबल’ में रहने के इच्छुक नहीं थे जबकि यह टूर्नामेंट के आयोजन के लिए बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) की मानक परिचालन प्रक्रिया का हिस्सा हैं।

इसके परिणामस्वरूप भारतीय टीम से बाहर चल रहे सलामी बल्लेबाज के नाम पर तमिलनाडु के चयनकर्ताओं ने मौजूदा सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के लिए विचार ही नहीं किया। तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) के सूत्रों ने अब दावा किया कि अगर यह अनुभवी बल्लेबाज राज्य की टीम में वापसी की इच्छा व्यक्त करता है तो यह ‘काफी मुश्किल’ होगा।

एक सूत्र ने बताया कि, ‘‘उन्हें ट्रेनिंग में वापसी करनी होगी, अपनी फिटनेस के बाद फॉर्म साबित करनी होगी तभी वह मैच खेल सकते हैं।’’ पिछले साल सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के लिए तमिलनाडु टीम से हटने के बाद उन्होंने टीएनसीए से संपर्क नहीं किया है।

संघ के एक सूत्र ने कहा, ‘‘विजय ने पिछले साल दिसंबर में लिखा था कि वह मुश्ताक अली ट्राफी के लिये चयन के लिये उपलब्ध नहीं होंगे। उसके बाद से उन्होंने टीएनसीए से संपर्क नहीं किया है और हम नहीं जानते कि उसके मन में क्या है। ’’

उनके अनुसार, ‘‘विजय को कोविड-19 का टीकाकरण कराने में कुछ झिझक है जो उनका निजी फैसला है। साथ ही उन्होंने कहा था कि वह बायो बबल में भी सहज नहीं है जो बीसीसीआई की मानक परिचालन प्रक्रिया का हिस्सा है। ’’

टी20 के बाद वनडे और टेस्ट की भी कप्तानी छोड़ेंगे विराट कोहली? पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने किया बड़ा खुलासा

एक अन्य सूत्र ने कहा, ‘‘जब उन्होंने फिर से अपनी उपलब्धता के बारे में नहीं लिखा है तो उनके राज्य की टीम के लिये चुने जाने का सवाल ही कहां पैदा होता है। साथ ही वह टीकाकरण से भी सहज नहीं दिखते।’’

तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन (TNCA) के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुरली विजय से संपर्क करने के प्रयास किए गए लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका। उन्होंने आखिरी बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2020 में व्यक्तिगत कारणों के चलते टूर्नामेंट से दूर रहने की जानकारी दी थी। उसके बाद से उन्होंने कोई भी कॉन्टैक्ट नहीं किया और ना हमसे संपर्क बनाकर रखा।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
हनुमान जी को खुश करने के लिए सुबह उठने और रात में सोने से पहले इस मंत्र का करें जापHanuman Ji, Hanuman Ji pray, Hanuman Ji worship, Hanuman Ji prayer, Hanuman Ji facts, Hanuman Ji worship method, worship method, worship method of hanuman, worship method of bajrangbali, Flowers, Flowers to hanuman, Religion news
अपडेट