ताज़ा खबर
 

‘अभी बेटा तुमने गुस्सा मेरा देखा नहीं है,’ गलत गेंद फेंकने पर MS Dhoni ने लगाई थी कुलदीप यादव को फटकार

स्टार स्पोर्ट्स के एंकर जतिन सप्रू ने कुलदीप से पूछा था, ‘क्या धोनी गुस्सा करते हैं?’ कुलदीप यादव ने बताया था, ‘माही भाई को गुस्सा बहुत कम आता है। मैदान पर मैंने उनको एक बार गुस्सा होते हुए देखा था।’

kuldeep yadav ms dhoniकुलदीप यादव ने बताया था, ‘उस टाइम मैं डर गया था। मुझे लगा था कि अचानक कैसे डाट पड़ गई।’

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ आज भी उनके शांत स्वभाव के लिए की जाती है। अपनी इसी खासियत के लिए उन्हें ‘कैप्टन कूल’ के नाम से भी जाना जाता है। शांत दिमाग से लिए गए निर्णयों से अक्सर उन्हें विपक्षी टीमों को चित करते देखा गया है। बहुत ही कम ऐसे अवसर आए हैं, जब उन्हें फील्ड पर गुस्सा करते हुए देखा गया हो।

कुछ दिन पहले स्पिनर कुलदीप यादव ने खुलासा किया था कि एक बार धोनी से उन्हें मैदान पर ही फटकार लगाई थी। कुलदीप ने एक वीडियो चैट में स्टार स्पोर्ट्स के एंकर जतिन सप्रू से बातचीत करते हुए बताया था, ‘तब धोनी भाई ने मुझसे कहा था कि तुझे समझ नहीं आती मेरी बात, मैं 300 एकदिवसीय मैच खेल चुका हूं।’ जतिन ने कुलदीप से पूछा था, ‘क्या धोनी गुस्सा करते हैं?’ इस पर कुलदीप ने जवाब दिया, ‘माही भाई को गुस्सा बहुत कम आता है। मैदान पर मैंने उनको एकबार गुस्सा करते हुए तब देखा था, जब हम श्रीलंका के साथ खेल रहे थे। वह टी20 मैच था, जो इंदौर में खेला गया था। रोहित शर्मा ने उस मैच में शतक लगाया था।’

कुलदीप ने कहा, ‘मुझे याद है कुशल परेरा बल्लेबाजी कर रहा था। उसने कवर के ऊपर से चौका लगाया था। फिर धोनी ने स्टंप्स के पीछे से ही कहा कि कवर्स का खिलाड़ी हटा पॉइंट पर तीन फील्डर रख ले। मैंने उनकी वह बात सुनी नहीं, मुझे समझ नहीं आया। अगली गेंद पर परेरा ने रिवर्स स्वीप पर फिर चौका मारा। इसके बाद धोनी मेरे पास आए और बोले मैं पागल हूं, जो 300 वनडे खेला हूं और समझा रहा हूं तुझे।’

कुलदीप ने आगे कहा, ‘उस टाइम मैं एक दम से डर गया था। मुझे लगा था कि अचानक कैसे डाट पड़ गई। बाद में हम वह मैच अच्छा जीते थे। इसके बाद लौटते समय बस में मैं धोनी भाई के बगल में बैठा। मैंने पूछा माही भाई आपको कभी गुस्सा आता है क्या?’ इस पर उन्होंने कहा, ‘’अभी मुझे गुस्सा नहीं आता है। गुस्सा आए हुए 20 साल हो गए। मुझे अब सब चीजों का एक्सपीरियंस हो चुका है, इसलिए लगता है कि अब मुझे बोलना चाहिए।’

कुलदीप ने बताया, ‘माही भाई ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा जब कोई सुनता नहीं है, तब मैं उसे डांटता हूं। अभी बेटा तुमने गुस्सा देखा नहीं है मेरा। यह सुनकर मैं चुप हो गया। फिर वह बता रहे थे कि मुझे गुस्सा पहले आता था, जब राज्य की ओर से रणजी क्रिकेट खेला करते थे।’ बता दें कि भारत ने उस टी20 मैच में श्रीलंका के सामने 261 रनों का लक्ष्य रखा था। कुलदीप यादव ने 4 ओवर में 52 रन देकर 3 विकेट चटकाए थे। श्रीलंका की ओर से परेरा ने 37 गेंद पर 77 रनों की जोरदार पारी खेली थी।। भारत 88 रन से यह मैच जीतने में कामयाब रहा था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘नाम क्या है- जालंधर, कहां से आए हो- हरभजन सिंह,’ भज्जी ने कपिल शर्मा के शो में सुनाया था मजेदार किस्सा
2 ऑस्ट्रेलिया को नहीं मिला स्टीव स्मिथ को साथ, ये है दोनों की प्लेइंग 11
3 श्रेयस अय्यर ने खोला नंबर 4 पर सफल होने का राज, बताया- विराट, रोहित और धोनी किस तरह बने ‘मददगार’
ये पढ़ा क्या?
X