ताज़ा खबर
 

चेन्नई में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 244 रन ठोंक चुके हैं महेंद्र सिंह धोनी, कई बार बरसा है उनका बल्ला

रविवार (17 सितंबर) को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए वनडे मैच में एमएस धोनी और हार्दिक पंड्या ने अर्ध-शतकीय पारियां खेलकर टीम को जीत दिलायी।

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज के पहले मैच में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रिकॉर्ड 100वां अर्धशतक बनाया। वनडे मैचों में ये उनका 67वां अर्ध-शतक था। भारत को मैच में 26 रनों से जीत मिली। चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में हुए इस मैच में धोनी ने चार चौकों और दो छक्कों की मदद से 79 रन बनाए। धोनी ने एक समय 11 रन पर तीन विकेट खो चुकी भारतीय टीम को हार्दिक पंड्या और भुवेश्वर कुमार के साथ मिलकर सात विकेट पर 281 रनों के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। एमए चिदंबरम स्टेडियम (चेपक स्टेडियम) धोनी का पसंदीदा क्रिकेट मैदान रहा है। आइए आपको बताते हैं इस मैदान पर खेली गयी धोनी की पांच सर्वश्रेष्ठ पारियों के बारे में –

1- साल 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ 113 नाबाद-  अपने परंपरागत प्रतिद्वंद्वी से खेलते हुए भारत ने 29 रन पर पांच विकेट खो दिए थे। पाकिस्तानी तेज गेंदबाज जुनैद खान ने चार विकेट लेकर भारतीय टीम की कमर तोड़ दी थी। उसके बाद मैदान पर उतरे धोनी ने सुरैश रैना और आर अश्विन की मदद से टीम को 227 के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। धोनी ने नाबाद 113 रन बनाए। उन्होंने रैना के साथ 73 रनों की और अश्विन के साथ 115 रनों की साझेदारी की। हालांकि शतक के बावजूद वो भारतीय टीम को जीत नहीं दिला सके।

2- साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 224 रन– महेंद्र सिंह धोनी ने अपने टेस्ट करियर में एक ही बार दोहरा शतक मारा है और ये उपलब्धि उन्होंने चेपक के मैदान पर ही हासिल की है। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 380 रन बनाए। भारत लक्ष्य का पीछा करते हुए चार विकेट पर 196 रन ही बना सका था, तब मैदान पर धोनी उतरे। धोनी और विराट कोहली की जबरदस्त बल्लेबाजी की मदद से भारतीय टीम ने 572 का विशालकाय स्कोर खड़ा कर लिया।

3- साल 2013 में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 67 रन- एमएस धोनी ने अपनी कप्तानी में भारतीय टीम को वनडे और टी-20 दोनों का विश्व कप दिलाया है। चेपक के मैदान पर उन्होंने टी-20 मैचों में भी शानदार प्रदर्शन किया है। साल 2013 में चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेलते हुए धोनी ने ताबड़तोड़ 67 रन बनाकर एक समय हारा प्रतीत हो रहे मैच में जीत दिला दी थी। धोनी ने केवल 37 गेंदें खेलकर 67 रन बनाए थे। आखिरी ओवर में सीएसके को 15 रन चाहिए थे। धोनी ने दो चौके मारकर टीम की जीत पक्की कर दी थी।

4-  साल 2008 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 60 रन- धोनी ने अपनी तूफानी बल्लेबाजी से अपनी टीम को 20 ओवरों में चार विकेट पर 181 रन के सुरक्षित स्कोर तक पहुंचा दिया था। धोनी का साथ दिया था सुब्रामण्यम बद्रीनाथ जिन्होंने 47 गेंदों पर 64 रन बनाए थे। मैच में लक्ष्मीपति बालाजी ने 24 रन देकर पांच विकेट लिए थे।

5-  साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 79 रन– रविवार (17 सितंबर) को हुए मैच में जब महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर उतरे तो भारतीय टीम 64 रनों पर चार विकेट खो चुकी थी। कप्तान विरोट कोहली समेत भारत के शीर्ष बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया गेंदबाजों के आगे बेबस होकर पवैलियन लौट चुके थे। पांच मैचों की सीरीज के पहले मैच में भारतीय टीम पर हार के बादल मंडरा रहे थे। लेकिन धोनी ने हार्दिक पंड्या के साथ मिलकर 118 रनों की साझेदारी करके टीम को संकट से उबार लिया। केदार जाधव, धोनी, पंड्या और भुवनेश्वर कुमार के योगदान से भारत ने सात विकेट खोकर 281 रन बना लिये। बारिश से बाधित मैच में भारत को 26 रनों से जीत मिली।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App