‘पैसा बोलता है, भारत को मना करने की किसी की हिम्मत नहीं,’ उस्मान ख्वाजा ने जताया पाकिस्तान के दौरे रद्द होने पर अफसोस

उन्होंने कहा, ‘हम सभी जानते हैं कि पैसा बोलता है और यही सबसे बड़ा कारण है। वे (पाकिस्तान) बार-बार साबित करते आए हैं कि वहां क्रिकेट खेलना सुरक्षित है। मुझे लगता है कि वहां जाकर खेलने से इंकार का कोई कारण नहीं है।’

Usman Khawaj has played 44 Tests, 40 ODIs and 9 T20Is for Australia
उस्मान ख्वाजा ने ऑस्ट्रेलिया के लिए अब तक 44 टेस्ट, 40 वनडे इंटरनेशनल और 9 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। (सोर्स- एक्सप्रेस अर्काइव)

ऑस्ट्रेलियाई ओपनर उस्मान ख्वाजा ने हाल ही में पाकिस्तान के क्रिकेट दौरे रद्द होने पर अफसोस जताया है। पाकिस्तान में जन्में उस्मान ख्वाजा ने इसके पीछे पैसे को कारण बताया है। उन्होंने कहा, ‘पैसा बोलता है। दुनिया की कोई टीम भारत दौरे से इनकार नहीं करेगी, लेकिन पाकिस्तान या बांग्लादेश का दौरा रद्द करना खिलाड़ियों और संगठनों के लिए आसान है।’

पिछले सप्ताह न्यूजीलैंड ने एकदिवसीय सीरीज के पहले मैच से ठीक पहले सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पाकिस्तान दौरा रद्द कर दिया। इसके बाद इंग्लैंड ने अक्टूबर में पुरुषों और महिलाओं की सीरीज खेलने के लिए पाकिस्तान जाने से इंकार कर दिया। हालांकि, पाकिस्तान में ब्रिटिश उच्चायुक्त क्रिश्चियन टर्नर ने स्पष्ट किया कि उस फैसले के पीछे खिलाड़ियों की सुरक्षा चिंता का मामला नहीं था। इन दौरों के रद्द होने से देश में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की बहाली की पाकिस्तान की कोशिशों को करारा झटका लगा है।

उस्मान ख्वाजा ने ‘द ऑस्ट्रेलियन एसोसिएट प्रेस’ से कहा, ‘मुझे लगता है कि खिलाड़ियों और संगठनों के लिए पाकिस्तान को मना करना आसान है, क्योंकि वह पाकिस्तान है। बांग्लादेश के मामले में भी यह कहा जा सकता है। हालांकि, अगर समान हालात होते तब भी भारत को कोई मना नहीं करता।’

उन्होंने कहा, ‘हम सभी जानते हैं कि पैसा बोलता है और यही सबसे बड़ा कारण है। वे (पाकिस्तान) बार-बार साबित करते आए हैं कि वहां क्रिकेट खेलना सुरक्षित है। मुझे लगता है कि वहां जाकर खेलने से इंकार का कोई कारण नहीं है।’

ऑस्ट्रेलियाई टीम को अगले साल पाकिस्तान का दौरा करना है। उस्मान ख्वाजा ने कहा कि उन्हें वहां जाकर खेलने से कोई परेशानी नहीं है। उन्होंने कहा, ‘वहां सुरक्षा के भारी इंतजाम हैं। मैने यही सुना है कि लोग महफूज हैं। पाकिस्तान क्रिकेट लीग (पीएसएल) खेलने वाले खिलाड़ियों ने भी यही बताया है।’

उस्मान ख्वाजा पांच साल की उम्र में अपने परिवार के साथ सिडनी चले गए थे। उनका कहना है कि पिछला हफ्ता क्रिकेट के लिहाज से ‘बेहद निराशाजनक’ रहा है। उस्मान ख्वाजा ने कहा कि वैश्विक क्रिकेट समुदाय के लिए पाकिस्तान में खेल का मंचन ‘बड़ा उद्देश्य’ होना चाहिए।

साल 2009 में लाहौर में श्रीलंका की टीम बस पर हमले के बाद से पीसीबी को अपने घरेलू मैचों को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में खेलने पड़े। ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन और राष्ट्रीय चयनकर्ता जॉर्ज बेली 2017 में एक टी20 प्रदर्शनी सीरीज के दौरान पाकिस्तान में खेले थे।

उस्मान ख्वाजा ने इस साल पीएसएल में हिस्सा लिया था। हालांकि, पाकिस्तान में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण ख्वाजा ने यूएई में पीएसएल के मुकाबले खेले थे। ख्वाजा के मुताबिक, ‘उनके करीबी दोस्त बेन कटिंग ने उन्हें बताया था कि पाकिस्तान की यात्रा की दौरान उन्होंने वास्तव में सुरक्षित महसूस किया।’

उस्मान ख्वाजा ने बताया, ‘बहुत सुरक्षा है। बहुत, बहुत सुरक्षा। मैंने लोगों के सुरक्षित महसूस करने की खबरों के अलावा कुछ नहीं सुना है। यहां तक ​​कि पीएसएल के दौरान भी जब लोगों से बात की तो उन्होंने यही कहा कि अब 100 प्रतिशत सुरक्षित है।’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट