scorecardresearch

Cricket Controversies: मानव तस्करी से लेकर महिला को पीटने तक, स्टार क्रिकेटर्स पर लग चुके हैं यह आरोप

भारत के कई क्रिकेटर्स पर गंभीर आरोप लग चुके हैं। इसमें सिर्फ मैच फिक्सिंग ही नहीं बल्कि मानव तस्करी और महिला से मारपीट जैसे मामले भी शामिल हैं।

Cricket Controversies, IPL Spot Fixing, Match Fixing, Mohammad Shami Hasin Jahan, Kapil Dev Crying
भारत के कई क्रिकेटर्स पर मानव तस्करी से महिला को पीटने तक कई गंभीर आरोप लग चुके हैं (सोर्स- ट्विटर, यूट्यूब)

क्रिकेट के मैदान पर हर दिन नए रिकॉर्ड्स बनते हैं और सुर्खियां बटोरते हैं। मैदान के बाहर भी क्रिकेटर्स अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। इसी में कुछ मीठी बातों के साथ कुछ कड़वी बातें भी निकल कर सामने आती हैं। आज हम उन्हीं कड़वी बातों का जिक्र करेंगे जिसमें कई स्टार क्रिकेटर्स पर लगे आरोपों की जानकारी आपको मिलेगी।

इस सूची में कई भारतीय टीम के लिए खेल चुके क्रिकेटर्स के नाम शामिल हैं। इस लिस्ट में मैच फिक्सिंग और मंकी गेट कांड जैसी लड़ाईयों से बढ़कर मानव तस्करी और महिला को पीटने तक के मामले शामिल हैं। हालांकि, ज्यादातर मामले इसमें फिक्सिंग विवाद से जुड़े ही हैं। आइए एक-एक करके नजर डालते हैं क्रिकेट की मशहूर कंट्रोवर्सीज पर:-

मोहम्मद अजहरुद्दीन (मैच फिक्सिंग कांड)

साउथ अफ्रीका के पूर्व कप्तान स्वर्गीय हैंसी क्रोनिए के साथ मैच फिक्सिंग में फंसे भारत के तत्कालीन कप्तान और स्टार बल्लेबाज मोहम्मद अजहरुद्दीन का फिक्सिंग कांड जगजाहिर है। उनके ऊपर लाइफटाइम बैन लगा जिसके कुछ सालों बाद आंध्र पर्देश हाईकोर्ट ने उन्हें क्लीन चिट भी दी। लेकिन बीसीसीआई द्वारा बैन नहीं हटाया गया। उनकी बायोपिक अजहर में भी इस कांड को दिखाया गया है।

मनोज प्रभाकर (मैच फिक्सिंग स्टिंग ऑपरेशन)

आपको याद होगा जब टीवी इंटरव्यू के दौरान कपिल देव फूट-फूट कर रोने लगे थे। यह मोहम्मद अजहरुद्दीन के फिक्सिंग कांड के बाद की बात है। उस वक्त स्विंग गेंदबाज मनोज प्रभाकर ने एक स्टिंग ऑपरेशन में मैच फिक्सिंग पर बोलकर तहलका मचा दिया था। इससे पहले उन्होंने तत्कालीन बीसीसीआई अध्यक्ष इंदरजीत सिंह बिंद्रा को बताया था कि, कपिल देव ने उनसे मैच हारन के लिए कहा था।

साथ ही प्रभाकर ने सचिन तेंदुलकर और संजय मांजरेकर को भी इस मामले में घसीटा था। उन्होंने कहा था कि, सचिन और संजय को इन सबकी जानकारी थी। हालांकि, सचिन ने कभी इस पर कोई बयान नहीं दिया लेकिन मांजरेकर ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था। बाद में जांच के बाद मनोज प्रभाकर को खुद फिक्सिंग का दोषी पाया गया और उन पर भी लाइफटाइम बैन लग गया।

जैकब मार्टिन (मानव तस्करी)

भारत के लिए 10 वनडे मैच खेलने वाले पूर्व क्रिकेटर जैकब मार्टिन को अप्रैल 2011 में मानव तस्करी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था। जांच में यह सामने आया था कि उन्होंने एक व्यक्ति से फर्जी कागजात की व्यवस्था करने के लिए पैसे लिए थे। उस व्यक्ति का नाम था निमेश कुमार जो फेक पासपोर्ट के साथ पकड़ा गया था।

मार्टिन ने उससे 7 लाख रुपए लिए थे। इसके बाद मार्टिन ने तिहाड़ जेल में सजा काटी। बाद में वह जमानत पर बाहर भी आ गए। उनको 2016 में बड़ोदा का कोच भी नियुक्त किया गया। जिसको लेकर काफी सवाल भी उठे। मार्टिन ने 1999-2000 में भारत के लिए वनडे मैच खेले थे। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भारत के लिए पर्थ वनडे में पाकिस्तान के खिलाफ 39 रन था।

अमित मिश्रा (महिला को पीटने का आरोप)

भारतीय टीम और आईपीएल के मशहूर स्पिनर्स में से एक अमित मिश्रा पर 2015 में महिला से मारपीट का आरोप लगा था। 25 सितंबर 2015 को वंदना जैन नाम की एक महिला ने भारतीय क्रिकेटर पर बेंगलुरू के 5 स्टार होटल के एक रूम में मारपीट करने का आरोप लगाया था। उस महिला ने पुलिस को बताया था कि वह दोनों 4 साल से दोस्त थे।

महिला के मुताबिक, अचानक होटल रूम में अमित मिश्रा आक्रामक हो गए और उन्होंने महिला पर चाय की केतली से वार किया। शिकायत के बाद बेंगलुरु पुलिस ने अमित मिश्रा को गिरफ्तार किया था। लेकिन बाद में वंदना ने अपना केस वापस ले लिया था जिसके बाद भारतीय क्रिकेटर को आरोप मुक्त घोषित कर दिया गया था।

मोहम्मद शमी – हसीन जहां विवाद

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और उनकी पत्नी हसीन जहां के बीच 2018 में हुआ विवाद काफी सुर्खियों में था। उस विवाद में हसीन जहां ने भारतीय पेसर पर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के आरोपों के अलावा, फिक्सिंग, उनके भाई पर यौन शोषण समेत कई आरोप लगाए थे। हालांकि जांच के बाद करप्शन के सभी मामलों में शमी को क्लीन चिट मिल गई थी।

मंकी गेट कांड (हरभजन सिंह)

2007-08 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह और एंड्रू सायमंड्स के बीच एक विवाद पूरी दुनिया में चर्चित रहा था। मैच रेफरी माइक प्रॉक्टर ने हरभजन सिंह को मंकी (बंदर) कहने का दोषी पाया था और उनके ऊपर 3 टेस्ट का बैन लगाया था। हालांकि बाद में इस पर भी विवाद हुआ था और कहा गया था कि, हरभजन ने हिंदी में गाली का फ्रेज कहा था, जिसको मंकी समझा गया था।

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग

साल 2013 में आईपीएल (IPL) के छठे सीजन के दौरान स्पॉट फिक्सिंग कांड ने सभी का ध्यान अपनी ओर खींच लिया था। इस मामले में भारतीय गेंदबाज एस. श्रीसंत पर पंजाब के खिलाफ नो बॉल फेंकने के लिए रुपए लेने का आरोप लगा था। इसमें सफेद टॉवल का भी इस्तेमाल किया गया था। इसके बाद उनके ऊपर बीसीसीआई ने लाफटाइम बैन लगा दिया था।

उनके अलावा अजीत चंडीला और अंकित चव्हाण पर भी स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के आरोप लगे थे। इन दोनों क्रिकेटर्स पर भी आजीवन बैन लग गया था। हालांकि, हाल ही में श्रीसंत के ऊपर से बैन हटा और कोर्ट से भी उन्हें क्लीन चिट मिल गई थी। वह इस वक्त केरल के लिए दोबारा से मैदान पर भी उतर चुके हैं। अक्सर वह नेट्स में गेंदबाजी करते नजर आते हैं।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट