ताज़ा खबर
 

मोईन अली के पिता ने तसलीमा नसरीन के बयान को बताया इस्लामोफोबिक, कहा- अपने एजेंडे के लिए मेरे बेटे को चुना

तसलीमा नसरीन ने ट्वीट कर कहा था कि अगर मोईन अली क्रिकेट के साथ नहीं जुड़े होते, तो वह सीरिया जाकर आईएसआईएस जॉइन कर चुके होते।

मोईन अली इस बार आईपीएल में महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेलेंगे। (सोर्स – ट्विटर)

बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने सोमवार (5 अप्रैल) को इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोईन अली पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। नसरीन ने ट्वीट कर कहा था कि अगर मोईन अली क्रिकेट के साथ नहीं जुड़े होते, तो वह सीरिया जाकर आईएसआईएस जॉइन कर चुके होते। उनके इस बयान की निंदा सोशल मीडिया पर हुई। वहीं, मोईन के पिता मुनीर अली ने तसलीमा नसरीन के बयान को इस्लामोफोबिक बताया है। साथ में यह भी कहा कि उन्होंने मेरे बेटे को अपने एजेंडे के लिए चुना है।

मुनीर अली ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा, ‘‘मेरे बेटे मोइन के खिलाफ तस्लीमा नसरीन की अभद्र टिप्पणी को पढ़कर मैं आहत और स्तब्ध हूं। अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने इसे एक व्यंग्य बताया है। वो यह भी कहती हैं कि वह कट्टरवाद के खिलाफ है। अगर वो आईने में देखेंगी तो उन्हें पता चलेगा कि उन्होंने जो ट्वीट किया है वह कट्टरपंथी है। यह एक मुस्लिम व्यक्ति के खिलाफ एक रूढ़िवादी, एक स्पष्ट रूप से इस्लामोफोबिक बयान है। ऐसा वही कर सकता है जिसके पास आत्म-सम्मान और दूसरों के लिए सम्मान नहीं है।’’

मुनीर ने आगे कहा, ‘‘सच कहूं तो मैं काफी गुस्से में हूं। अगर मैं किसी दिन उनसे मिला तो बताऊंगा कि उनके बारे में क्या सोचता हूं। अभी के लिए मैं उन्हें एक शब्दकोश चुनने और व्यंग्य का अर्थ देखने के लिए कहूंगा। यह ऐसा नहीं है कि वह किसी के बारे में क्या सोचती है। यह किसी ऐसे व्यक्ति के खिलाफ जहरीला बयान है जिसे आप जानती भी नहीं और फिर इसे व्यंग्य बताकर पीछे हट रहीं। अपने एजेंडे के लिए उन्होंने मेरे बेटे को चुना। क्रिकेट की दुनिया में हर कोई जानता है कि वह कैसा है।’’

तसलीमा नसरीन के बयान इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर ने भी उनकी निंदा की थी। आर्चर ने तसलीमा को जवाब दिया, ‘क्या तुम ठीक हो? मुझे नहीं लगता कि तुम ठीक हो? व्यंग्य? कोई भी नहीं हंस रहा, आप भी नहीं, आप कम से कम यह कर सकती हैं कि इस ट्वीट को हटा दें।’’ तसलीमा ने अपने एक अन्य ट्वीट में मोईन पर दिए अपने बयान का बचाव किया था।

तसलीमा ने कहा था, ‘‘नफरत करने वालों को पता होना चाहिए कि मोईन अली पर किया गया ट्वीट मजाक में किया गया था। पर उन्होंने इस मुझे परेशान करने का एक मुद्दा बना लिया क्योंकि मैं मुस्लिम समाज को सेकुलर बनाने का और इस्लामिक धर्मांधता का विरोध करती हूं। मानवता का सबसे बड़ा दुर्भाग्य यह है कि महिला समर्थक वामपंथी, महिला विरोधी इस्लामिस्ट का समर्थन करते हैं।’’

Next Stories
1 BCCI के नए एसीयू चीफ ने जताई सट्टेबाजी से फिक्सिंग की आशंका, पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने की थी वैध करने की वकालत
2 IPL 2021: चेन्नई सुपरकिंग्स के मोईन अली ने उठाया बड़ा कदम, जर्सी पर शराब का लोगो लगाने से किया इनकार
3 IPL 2021: ‘मुंबई इंडियंस छठी बार बन सकती है चैंपियन, सूर्यकुमार यादव बनाएंगे सबसे ज्यादा रन,’ बोले पूर्व भारतीय ओपनर
ये पढ़ा क्या?
X