ताज़ा खबर
 

मिताली राज हैं भारतीय क्रिकेट की नई कैप्टन कूल, मैदान पर उतरने से ठीक पहले पढ़ रही थीं किताब

इंग्लैंड में खेले जा रहे महिला क्रिकेट विश्व कप में भारत ने इंग्लैंड को 35 रनों से हराकर टूर्नामेंट का विजयी आगाज किया है।

भारत-इंग्लैंड विश्व कप मैच के दौरान किताब पढ़तीं मिताली राज।

अब तक महेंद्र सिंह धोनी को ही कैप्टन कूल कहा जाता था, लेकिन इस फेहरिस्त में एक और खिलाड़ी का नाम शुमार हुआ है। वह हैं भारत की महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज। महिला विश्व कप में भारत बनाम इंग्लैंड के मैच के दौरान मिताली क्रीज पर जाने से पहले आराम से किताब पढ़ती नजर आई थीं। इस मैच में उन्होंने 71 रन की पारी खेलकर लगातार 7 वनडे हाफ सेंचुरी बनाने का रिकॉर्ड कायम किया था। महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा 47 अर्धशतक बनाने का रिकॉर्ड भी मिताली के नाम दर्ज है। मिताली महिला वनडे क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने से महज 141 रन पीछे हैं। फिलहाल एडवर्ड्स के महिला वनडे इतिहास में सबसे ज्यादा 5992 रन हैं, जिसे मिताली इसी टूर्नामेंट में तोड़ सकती हैं। इस मैच में भारत ने इंग्लैंड को 35 रनों से मात दी थी।

पढ़ रही थीं यह किताब: लेकिन मिताली बाउंड्री पर बैठकर इतनी तसल्ली से कौन सी किताब पढ़ रही थीं। इसके जवाब में 34 वर्षीय कप्तान ने कहा, रूमी। उनका पूरा नाम जलालअद्दीन मोहम्मद रूमी था और वह 13वीं सदी के फारसी सूफी थे। मिताली ने कहा, चूंकि किंडल लाने की इजाजत नहीं है, इसलिए उन्हें अपने फील्डिंग कोच से वह किताब लेनी पड़ी। मुझे पढ़ने की बहुत आदत है। बैटिंग करने से पहले मैं हमेशा किताब या किंडल के साथ होती हूं। उन्होंने कहा, इससे मुझे शांति मिलती है और बैटिंग के दौरान डर भी नहीं लगता।

हुई थी तारीफ: पिछले 18 साल से भारत की ओर से खेल रहीं मिताली की इस कूलनेस की न सिर्फ लोगों बल्कि आईसीसी ने भी तारीफ की है। एक ट्वीट में आईसीसी ने लिखा, मिताली राज से शांत कोई नहीं है। वहीं एलन गार्डनर ने कहा, प्लास्टिक की कुर्सी पर बैठकर बैटिंग का इंतजार करते हुए किताब पढ़ती हुईं मिताली। शानदार। वहीं तारेख लास्कर ने लिखा, इस किताब का शीर्षक क्या है?

बता दें कि इंग्लैंड में खेले जा रहे महिला क्रिकेट विश्व कप में भारत ने इंग्लैंड को 35 रनों से हराकर टूर्नामेंट का विजयी आगाज किया है। प्लेयर ऑफ द मैच सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना (90) को चुना गया था। उनके अलावा पूनम राउत (86) और कप्तान मिताली राज (71) ने बेहतरीन अर्धशतकीय पारियां खेली थीं । भारत ने निर्धारित 50 ओवरों में तीन विकेट के नुकसान पर 281 रन बनाए थे, जिसके बाद 282 रनों के चुनौतीपूर्ण लक्ष्य को इंग्लैंड की टीम हासिल नहीं कर पाई और 47.3 ओवरों में 246 रनों पर ढेर हो गई।

10 ऐसे क्रिकेटर्स जो गरीबी से उठकर बनें टीम इंडिया के सितारे, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App