ताज़ा खबर
 

बॉल टैम्परिंग पर मिचेल स्टार्क का खुलासा: स्मिथ मुझे भी करना चाहते थे शामिल, लेकिन…

सीए ने बॉल टैंपरिंग मामले में स्मिथ और वॉर्नर को तीसरे टेस्ट मैच के बाकी दिनों के लिए इनके पदों से हटा दिया था। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने भी स्मिथ पर एक टेस्ट मैच का प्रतिबंध, पूरी मैच फीस का जुर्माना और बेनक्रॉप्ट पर मैच फीस का 75 फीसदी जुर्माना लगाया था।

मिचेल स्टार्क। (Photo Courtesy: ICC)

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ बॉल टैम्परिंग मामले में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) द्वारा लगाए गए 12 माह के प्रतिबंध लगाया। केपटाउन में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में बेनक्रॉफ्ट को गेंद के साथ पीले टेप से छेड़छाड़ करते हुए कैमरे में कैद किया गया था। बाद मे स्मिथ और बेनक्रॉफ्ट ने यह बात मानी कि गेंद से छेड़खानी टीम की योजना थी। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने खुलासा करते हुए बताया कि इसमें स्मिथ उन्हें भी शामिल करना चाहते थे।

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्टार्क ने कहा, “स्मिथ ने सभी गेंदबाजों को फंसाने की कोशिश की लेकिन मैंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से मिलकर अपना पक्ष रखा और उसने क्लीन चिट दे दी. न्यूलैंड्स में तीसरे दिन के खेल के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्मिथ ने अपने इस कृत्य में शामिल लोगों के साथ क्या दिखाने की कोशिश की ? यह ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट इतिहास के लिए बुरे अभ्यास में से एक था।”

बता दें कि सीए ने बॉल टैंपरिंग मामले में स्मिथ और वॉर्नर को तीसरे टेस्ट मैच के बाकी दिनों के लिए इनके पदों से हटा दिया था। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने भी स्मिथ पर एक टेस्ट मैच का प्रतिबंध, पूरी मैच फीस का जुर्माना और बेनक्रॉप्ट पर मैच फीस का 75 फीसदी जुर्माना लगाया था।

प्रतिबंध के स्मिथ ने नहीं की अपील: स्मिथ अपने एक ट्वीट में कह चुके हैं कि, “मैं इस घटना को भूलने और अपने देश का क्रिकेट में फिर से प्रतिनिधित्व करने के लिए कुछ भी करूंगा। मैंने जो कहा, मैं उस बात का मूल्य रखता हूं और मैं टीम के कप्तान के रूप में इस घटना की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं। मैं इस प्रतिबंध के खिलाफ अपील नहीं करूंगा। सीए ने यह प्रतिबंध एक कड़ा संदेश देने के लिए लगाया है और मैंने इसे स्वीकार किया है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App