माइकल वॉन ने मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने के लिए IPL को ठहराया जिम्मेदार, इरफान पठान ने कहा- मेरा दांत टूट गया क्या मैं IPL को दोष दूं

मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने के बाद लगातार आईपीएल को इसका जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। इसको लेकर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने आईपीएल पर दोष मढ़ा है। वहीं इरफान पठान ने भारतीय लीग के बचाव में ट्वीट किया है।

michael-vaughan-blames-ipl-for-cancellation-of-manchester-test-after-covid-outbreak-irfan-pathan-calls-is-easy-target
मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने पर माइकल वॉन ने IPL को जिम्मेदार ठहराया है, इरफान पठान ने IPL का समर्थन किया है (Source: Indian Express)

भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज का कोरोना के कारण दुखद अंत हुआ है। मैनचेस्टर टेस्ट को दोनों देशों के बोर्ड ने कई दौर की चर्चा के बाद रद्द करने का फैसला लिया। इसको लेकर अब हर तरफ से आवाज उठने लगी है कि आईपीएल (IPL) के कारण मैनचेस्टर टेस्ट मैच को रद्द करा गया है।

इसी कड़ी में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन भी आगे आए हैं और उन्होंने भी भारतीय लीग को ही मैच रद्द होने का कारण बताया है। वहीं पूर्व भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान ने इसरे इजी टार्गेट (easy target) कहा है।

माइकल वॉन ने अपने एक सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा कि,’IPL की टीमें उड़ान भर रही हैं। यूएई में 6 दिन का क्वारंटीन होगा और 7वें दिन से आईपीएल शुरू होगा। हमें ये कोई ना बताए कि टेस्ट रद्द करने का आईपीएल के सिवा कोई और कारण है।’

भारत के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने लगातार आईपीएल को जिम्मेदार ठहराने पर एक ट्वीट किया है। उन्होंने हैशटैग के साथ इजी टारगेट (#easytarget) लिखते हुए कहा कि,’मेरा दांत टूट गया, क्या मैं भी आईपीएल को दोष दूं?’

सोशल मीडिया पर लगातार यूजर्स, क्रिकेट एक्सपर्ट सभी के बीच आईपीएल को मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने का जिम्मेदार ठहराने पर जंग छिड़ी हुई है। कई लोग भारतीय लीग के खिलाफ बोल रहे हैं तो कई इसका समर्थन कर रहे हैं।

इसी को लेकर शुक्रवार को इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज मार्क बुचर ने भी कहा था कि,’यूएई में 19 सितंबर को आईपीएल फिर से शुरू होगा और इस टेस्ट को आगे खिसकाने से भारतीय खिलाड़ियों के लिए उस प्रतियोगिता (आईपीएल) की शुरुआत में भाग लेना मुश्किल होता। अगर कोई भारतीय खिलाड़ी जांच में पॉजिटिव आता तो उसे कम से कम 10 दिनों तक ब्रिटेन में क्वारंटीन रहना पड़ता।’

अगर हम वर्तमान स्थिति पर नजर डालें तो ये सच है कि अगर मैनचेस्टर टेस्ट को आगे बढ़ाया जाता तो आईपीएल में भारतीय खिलाड़ियों के शामिल होने में दिक्कते आती। इसी बीच अगर कोई अन्य खिलाड़ी पॉजिटिव मिलता तो उसे 10 दिनों तक ब्रिटेन में ही क्वारंटीन भी रहना पड़ता।

जिसको देखते हुए इस मैच को दोनों बोर्ड की राय के बाद आगे नहीं खिसकाया गया। ऐसा इसलिए क्योंकि कोरोना काल में क्वारंटीन आदि के नियमों को देखते हुए हर चीज पहले से ही तय होती है। इसके कार्यक्रम में बदलाव करना आगे की योजनाओं पर असर डाल सकता है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट