ताज़ा खबर
 

वीडियो: बॉलर्स की बखिया उधेड़ने वाले इस पूर्व अॉस्ट्रेलियाई कप्तान ने बेंगलुरु की सड़कों पर दौड़ाया अॉटो, हैरान रह गए लोग

35 वर्षीय क्लार्क ने अपना पहला टेस्ट मैच बेंगलुरु में ही खेला था।

22 सेकंड का एक वीडियो पूर्व अॉस्ट्रेलियाई कप्तान ने अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया है।

अॉस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने बेंगलुरु में अॉटो चलाया। क्लार्क भारत और अॉस्ट्रेलिया के बीच जारी टेस्ट सीरीज में कॉमेंटेटर भी हैं। क्लार्क ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर एक 22 सेकंड का वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें वह अॉटो रिक्शा चलाना सीख रहे हैं।  बेंगलुरु में विदेशी अॉटो रिक्शा को टुक-टुक बुलाते हैं। इस वीडियो के शीर्षक में उन्होंने कहा-टुक-टुक चलाने की कला में महारथ हासिल कर रहा हूं। बेंगलुरु में वापस आकर बहुत अच्छा लग रहा है, जहां से यह सब शुरू हुआ था। सड़कों पर लोग भी क्लार्क को अॉटो चलाते देखकर हैरान थे। क्लार्क के इस वीडियो को फेसबुक पर अब तक 218668 लोग देख चुके हैं और 1500 से ज्यादा लोगों ने इसे शेयर किया है। वहीं 23 हजार से ज्यादा लोगों ने इस पर कॉमेंट किया है। एक यूजर ने कमेंट में कहा, मुझे एेसा लगा कि शायद अॉटो वाला उसे लेने के लिए आपके पीछे भाग रहा था। बता दें कि 35 वर्षीय क्लार्क ने अपना पहला टेस्ट मैच बेंगलुरु में ही खेला था। ऑस्ट्रेलिया के लिए क्लार्क 115 टेस्ट खेल चुके हैं। माइकल क्लार्क ने टेस्ट में 8000 से ज्यादा रन बनाए हैं।

यहां देखें अॉटो चलाते माइकल क्लार्क:

आपको बता दें कि पुणे टेस्ट में स्टीव ओकीफी और नाथन लियोन की फिरकी के जादू से ऑस्‍ट्रेलिया ने पहला क्रिकेट टेस्ट 333 रन से जीतकर चार मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त बना ली है। ऑस्‍ट्रेलिया ने इसके साथ ही भारत के लगातार 19 मैचों के अजेय अभियान को भी थाम दिया और साथ ही 20 टेस्ट बाद मेजबान टीम को उसके मैदान पर हार का स्वाद चखाया। वहीं ऑस्‍ट्रेलिया को भारत में लगातार सात टेस्‍ट हारने के बाद पहली बार जीत मिली है। पुणे टेस्‍ट से पहले उसे साल 2004 में नागपुर में जीत मिली थी। उस मैच के बाद ऑस्‍ट्रेलिया ने भारत में सात टेस्‍ट हारे और चार ड्रा कराए। 4502 दिन बाद उसे भारतीय जमीं पर जीत मिली है। इधर, एशिया महाद्वीप में कंगारू टीम लगातार नौ टेस्‍ट हारने के बाद जीती है।

पहली पारी में 35 रन देकर छह विकेट चटकाने वाले बायें हाथ के स्पिनर ओकीफी ने दूसरी पारी में भी 35 रन देकर छह विकेट चटकाए थे। ओकीफी ने मैच में 70 रन देकर 12 विकेट चटकाए जो किसी आस्ट्रेलियाई गेंदबाज का भारतीय सरजमीं पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है। इससे पहले एलेन डेविडसन ने दिसंबर 1959 में कानपुर में भारत के खिलाफ मैच में 124 रन देकर 12 विकेट हासिल किए थे। इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने अपना 18वां टेस्ट शतक जड़ते हुए 202 गेंद में 11 चौकों की मदद से 109 रन बनाए जिससे मेहमान टीम ने दूसरी पारी में 285 रन का स्कोर खड़ा किया था। स्मिथ की यह पारी भारतीय सरजमीं पर किसी विदेशी बल्लेबाज की सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक है। यह भारत के खिलाफ पिछले पांच टेस्ट में उनका लगातार पांचवां शतक है।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दो टेस्ट के लिए भारतीय टीम का एलान, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App