ताज़ा खबर
 

गांगुली के कार्यक्रम में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान बोले- आईपीएल ने क्रिकेट को किया बाधित

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल अर्थटन ने कहा कि आईपीएल ने नये खिलाडि़यों को मौका और अवसर तो दिया है लेकिन क्रिकेट को बाधित भी किया है।

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी (Photo credit- Reuters)

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल अर्थटन का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग ने युवा खिलाडि़यों को अधिक मौका और अवसर दिए। लेकिन साथ ही इसने क्रिकेट को बाधित भी किया है। उन्होंने यह बात लंदन के लॉर्डस में पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली की किताब ‘ए सेंचुरी इज नॉट इनफ’ के विमोचन (लॉन्च) के दौरान कही। अर्थटन इंग्लैंड टीम के साथी माइक गेट्टी और श्रीलंका के पूर्व खिलाड़ी कुमार संगकारा के साथ क्रिकेट पर एक चर्चा में शामिल हुए। अर्थटन टी-20 की बढ़ती लोकप्रियता के मद्देनजर टेस्ट क्रिकेट के भविष्य के बारे में बात रहे थे। उन्होंने कहा कि टी-20 के खिलाडि़यों को काफी ज्यादा पैसा दिया जा रहा है। दूसरे व्यवसाय की तरह किक्रेट बाधित हो गया है। आईपीएल एक नुकसानदायक आयोजन है।

उन्होंने कहा कि इंग्लैंड में अभी भी टेस्ट क्रिकेट को लोग पसंद करते हैं। वहीं भारत में टेस्ट मैच के दौरान मैदान खाली दिखता है। लेकिन हमें यह ध्यान रखना होगा कि वे बड़े मैदान हैं। खेल हमेशा अनुकूल होता है और हमें इसे जारी रखना होगा। मैं इसके भविष्य के बारे में आशावादी रहूंगा। वहीं गांगुली ने सलाह दिया कि टेस्ट के दिन-रात प्रारूप को आगे बढ़ाना होगा। अपने काम को छोड़ कर दिन भर ग्राउंड पर बने रहना आम लोगों के लिए मुश्किल है।

चर्चा के दौरान संगाकारा ने इस बात पर जोर दिया कि टेस्ट क्रिेकेट को भविष्य में बनाए रखने के लिए आर्थिक रूप से मजबूती प्रदान करनी होगी। अभी भी टेस्ट क्रिकेट के लोग काफी दीवाने हैं। लेकिन सब बदलता रहता है। हमें भी अपनी मानसिकता में बदलाव करना होगा। वहीं, गेट्टी ने कहा कि यह दुख की बात है कि भारत में प्रशंसक कई टेस्ट मैच नहीं देखते हैं। लेकिन मुझे अभी भी विश्वास है कि यहां टेस्ट क्रिकेट के लिए जगह है।इस मौके पर गांगुली ने 1996 में लॉड्स के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए अपने पहले टेस्ट मैच को याद किया। उस समय इंग्लैंड के कप्तान अर्थटन थे। अर्थटन ने कहा कि हम यह देखते हैं कि वह मध्य क्रम के भारतीय खिलाडि़यों की एक नई पीढ़ी की शुरूआत थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App