ताज़ा खबर
 

शास्त्री और नाइक के कथित टकराव पर चर्चा करेगा एमसीए

एमसीए की प्रबंध समिति वानखेड़े स्टेडियम के क्यूरेटर सुधीर नाइक की भारतीय टीम के निदेशक रवि शास्त्री के खिलाफ दायर की शिकायत पर 30 अक्तूबर को चर्चा करेगी..

Author मुंबई | October 27, 2015 11:43 PM
भारतीय टीम के निदेशक रवि शास्त्री। (पीटीआई फाइल फोटो)

मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) की प्रबंध समिति वानखेड़े स्टेडियम के क्यूरेटर सुधीर नाइक की भारतीय टीम के निदेशक रवि शास्त्री के खिलाफ दायर की शिकायत पर 30 अक्तूबर को चर्चा करेगी। नाइक ने शास्त्री पर अपशब्द कहने का आरोप लगाया है।

एमसीए के संयुक्त सचिव पीवी शेट्टी ने बताया कि उन्हें पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज नाइक की शिकायत मिली है। प्रबंधन समिति इस पर चर्चा करेगी। शेट्टी ने कहा, ‘नाइक ने एमसीए में शिकायत दर्ज की है। यह मसला एमसीए प्रबंध समिति की 30 अक्तूबर को होने वाली बैठक में उठाया जाएगा।’

एमसीए के अन्य संयुक्त सचिव उन्मेश खानविलकर ने कहा, ‘हम इस शिकायत को प्रबंध समिति में रखेंगे। नाइक ने अपनी शिकायत में कहा है कि उनके और शास्त्री के बीच बहस हुई थी। भारतीय टीम के निदेशक ने उनके लिए अपशब्दों का उपयोग किया था।’

जहीर खान के भी कोच क्यूरेटर ने मुंबई क्रिकेट संघ से शिकायत की। नाइक ने अपनी शिकायत में कहा है, ‘शास्त्री ने मैच के बीच में उनसे पूछा कि वह पिच के बारे में क्या सोचते हैं। इस बीच उन्होंने असंसदीय भाषा का उपयोग किया। यही नहीं गेंदबाजी कोच बी अरुण ने इसी मसले को लेकर उनके सहयोगी मामुनकर पर अपना गुस्सा उतारा।’ नाइक ने साथ ही कहा कि भारतीय टीम प्रबंधन स्पिनरों की मददगार पिच चाहता था जो कि आखिरी क्षणों संभव नहीं था। दक्षिण अफ्रीका ने मैच में चार विकेट पर 438 रन बनाए। भारत 214 रन से यह मैच हराकर शृंखला 2-3 से गंवा बैठा था।

बीसीसीआइ सचिव अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा था कि बोर्ड शास्त्री के नाइक के साथ कथित बहस पर गौर करेगा। ठाकुर ने कहा कि इस साल की शुरुआत में पर्थ में विश्व कप के दौरान प्रमुख राष्ट्रीय दैनिक के पत्रकार को विराट कोहली के अपशब्द कहने के दौरान जैसे मानक कार्य प्रक्रिया अपनाई गई थी इस बार भी वैसा ही किया जाएगा।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App