ताज़ा खबर
 

मैच फिक्सिंग के विरोध पर मिली थीं मारने की धमकी, पाक दिग्गज ने कहा- पीसीबी ने नहीं मानी जस्टिस आयोग की सिफारिश

जावेद के मुताबिक, जस्टिस ने यह भी कहा था कि उन्हें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) में किसी भी महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी नहीं दी जाए। फिर भी वसीम अकरम, वकार यूनुस और मुश्ताक अहमद जैसे खिलाड़ियों को पीसीबी में रखा गया।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: May 7, 2020 7:49 PM
aqib javed 850आकिब जावेद। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज और लाहौर कलंदर्स के कोच आकिब जावेद ने दावा किया है कि मैच फिक्सिंग का विरोध करने पर उन्हें जान से मारने की धमकियां मिली थीं। उन्होंने दावा किया कि जब जस्टिस कय्यूम मैच फिक्सिंग मामले की जांज कर रहे थे तो उन्हें ऐसी धमकियां मिली थीं। आकिब जावेद ने यह भी कहा है कि उनके मुल्क में भ्रष्टाचारियों को सजा नहीं मिलती, बल्कि भ्रष्टाचार का विरोध करने वालों या भ्रष्टाचार की सूचना देने वालों (व्हिसिल ब्लोवर) को सजा मिलती है।

आकिब जावेद ने एक इंटरव्यू के दौरान यह खुलासा किया। उन्होंने वक्त से पहले करियर खत्म होने के पीछे इसे जिम्मेदार भी ठहराया। उन्होंने कहा कि फिक्सिंग को लेकर विरोध किया था, जिसके बाद जान से मारने की धमकियां मिली थीं।

पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, उन्होंने मुझसे कहा था कि पूछताछ के दौरान यदि मैंने अपनी जुबान खोली तो वे मुझे मार देंगे। उन्होंने स्वीकार किया कि जस्टिस कय्यूम की अगुआई वाली जांच में कई बातें सामने नहीं आईं।

जावेद ने बताया था कि जस्टिस ने कहा था कि मामले में आरोपियों को कठोर दंड दिया जाए, लेकिन उन पर सिर्फ जुर्माना लगाकर छोड़ दिया गया। उन्हें एक और मौका दिया गया। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने इसके लिए दलील दी कि वे देश की एसेट हैं।

जावेद के मुताबिक, जस्टिस ने यह भी कहा था कि उन्हें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) में किसी भी महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी नहीं दी जाए। फिर भी वसीम अकरम, वकार यूनुस और मुश्ताक अहमद जैसे खिलाड़ियों को पीसीबी में रखा गया। आकिब ने कहा, मैच फिक्सरों से उन्हें मौत की धमकी मिली थी। उन्होंने मुझसे कहा था कि अगर मैं अदालत में गवाही दूंगा तो वे उसके शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर देंगे।

जस्टिस कय्यूम की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व खिलाड़ियों माजिद खान और राशिद लतीफ ने पहले 1997-98 में सिंगर चैंपियंस ट्रॉफी के बारे में भी आरोप लगाए थे। इस टूर्नामेंट के मैच के दौरान इन-फॉर्म बल्लेबाजों के बजाय वसीम अकरम खुद ऊपरी क्रम पर बैटिंग के लिए आए थे। उन्हें ड्रेसिंग रूम में मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हुए भी देखा गया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इन भारतीय महिलाओं ने थामा पाकिस्तानी क्रिकेटरों का हाथ, रीता लूथरा ने धर्म बदलकर की थी जहीर अब्बास से शादी
2 VIDEO: युवराज सिंह ने कसरत करते युजवेंद्र चहल को कहा था चूहा, भारतीय स्पिनर ने दिया करारा जवाब
3 बोले महेंद्र सिंह धोनी- 10 गेंदों तक बढ़ी रहती है मेरे दिल की धड़कन, दबाव में रहता हूं
ये पढ़ा क्या?
X