मनिका बत्रा द्वारा कोच पर लगाए गए फिक्सिंग के आरोपों की जांच के लिए होगा कमेटी का गठन, हाईकोर्ट ने दिए निर्देश; जानिए क्या है पूरा मामला

मनिका बत्रा द्वारा नेशनल कोच पर लगाए गए फिक्सिंग के आरोपों को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट ने एक तीन सदस्यीय कमेटी का गठन करने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने कमेटी से 4 दिनों में मामले की अंतरिम रिपोर्ट भी मांगी है।

manika-batra-match-fixing-allegations-on-coach-soumyadeep-roy-delhi-high-court-orders-to-constitute-committee-to-investigate-the-matter-raised-by-star-table-tennis-player
मनिका बत्रा ने राष्ट्रीय कोच सौम्यदीप रॉय पर लगाए थे मैच फिक्सिंग करने के लिए दबाव बनाने के आरोप (सोर्स- Instagram @manikabatra.15)

दिल्ली उच्च न्यायालय ने स्टार टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा के द्वारा राष्ट्रीय कोच पर मैच फिक्सिंग के प्रयास के आरोप की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति का गठन करने का निर्देश दिया है। साथ ही न्यायालय ने चार हफ्तों के अंदर एक अंतरिम रिपोर्ट भी मांगी है।

मनिका की भारतीय टेबल टेनिस महासंघ (टीटीएफआई) के खिलाफ याचिका की सुनवाई कर रही न्यायमूर्ति रेखा पल्ली ने कहा कि समिति की रिपोर्ट के आधार पर वह राष्ट्रीय खेल संस्था के संचालन के लिए एक प्रशासक नियुक्त करने के मुद्दे पर विचार करेंगी।

वहीं मनिका ने आरोप लगाया है कि टीटीएफआई गैर पारदर्शी तरीके से चयन कर रहा है और कुछ खिलाड़ियों को निशाना बना रहा है जिसमें वह भी शामिल हैं। खेल मंत्रालय को खेल संस्था के खिलाफ जांच का निर्देश देने वाली न्यायमूर्ति रेखा पल्ली ने कहा कि समिति में दो न्यायाधीश और एक खिलाड़ी होगा जिनकी जानकारी आदेश में दी जाएगी।

अदालत ने स्पष्ट किया है कि अंतरराष्ट्रीय टेबल टेनिस महासंघ (आईटीटीएफ) को मनिका के खिलाफ सभी कार्रवाई वापस लेने के बारे में सूचित करने के अलावा टीटीएफआई इस खिलाड़ी के संबंध में अंतरराष्ट्रीय संस्था को और कुछ नहीं लिखेगा। निर्देश के अनुसार अगर आईटीटीएफ को किसी सूचना की जरूरत है तो टीटीएफआई उनके आग्रह को तीन सदस्यीय समिति के सुपुर्द कर देगा।

टीटीएफआई के सीनियर वकील संदीप सेठी ने अदालत में कहा कि, खेल संस्था के कार्यकारी बोर्ड ने मनिका के खिलाफ कारण बताओ नोटिस और इसके परिणामस्वरूप हुई सभी कार्रवाई को वापस लेने का फैसला किया है। उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि, टीटीएफआई अंतरराष्ट्रीय संस्था को इस जानकारी से सूचित करेगा और उन्होंने अदालत से अनुरोध किया कि खेल संस्था को खुद का पक्ष साबित करने की अनुमति दी जाए।

मनिका बत्रा के राष्ट्रीय कोच पर लगाए आरोपों पर TTFI ने दिया जवाब, यहां विस्तार से जानिए पूरा मामला

क्या है पूरा मामला?

गौरतलब है कि एशियाई टेबल टेनिस चैम्पियनशिप के लिए भारतीय दल से बाहर की गईं मनिका ने अपनी याचिका में आरोप लगाया था कि राष्ट्रीय कोच सौम्यदीप रॉय ने उनकी अकादमी की एक खिलाड़ी के खिलाफ ओलंपिक क्वालीफायर मुकाबला ‘गंवाने’ के लिए उन पर ‘दबाव’ बनाया था।

इसके बाद मनिका को टीटीएफआई द्वारा एक नोटिस भी भेजा गया था और कहा गया था कि अब तक वे चुप क्यों थीं। साथ ही टोक्यो ओलंपिक में नेशनल कोच सौम्यदीप रॉय की जगह सन्मय परांजपे के साथ काम करने का कारण पूछा गया। इसके बाद मनिका ने ये भी कहा था कि उन्होंने फेडरेशन को इसकी जानकारी पहले ही दी थी लेकिन उनकी बात को अनसुना किया गया था।

(इनपुट- भाषा)

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
रावण ने अपने आखिरी पलों में लक्ष्मण को दिया था यह ज्ञान, आपकी सक्सेस के लिए भी जरूरी हैं ये बातेंravan, ram, laxman, ramayan, valuable things, srilanka, धर्म ग्रंथ रामायण, राम, रावण, लंकापति रावण, वध श्रीराम, शिवजी की पूजा, लक्ष्मण
अपडेट