ताज़ा खबर
 

महेंद्र सिंह धोनी की सलाह मानकर विराट कोहली ने कराई थी केदार जाधव से गेंदबाजी और मिल गए दो विकेट

मैच में एक पॉइंट पर लग रहा था कि बांग्लादेश का स्कोर 300 के पार पहुंच जाएगा, लेकिन केदार जाधव ने पड़ोसी देश के 2 विकेट उखाड़कर उन्हें बैकफुट पर धकेल दिया।

मुश्फिकुर रहीम का विकेट लेने के बाद खुशी मनाते केदार जाधव, विराट कोहली और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी। तस्वीर-रॉयटर्स

बांग्लादेश के खिलाफ गुरुवार को हुए मैच में एक बार फिर साबित हो गया कि टीम इंडिया के लिए महेंद्र सिंह धोनी कितने अहम हैं। अगर केदार जाधव ने भारत के लिए मैच का पासा पलट दिया, तो इसके पीछे महेंद्र सिंह धोनी की कप्तान विराट कोहली को पार्ट टाइम स्पिनर आजमाने की सलाह ही थी। मैच में एक पॉइंट पर लग रहा था कि बांग्लादेश का स्कोर 300 के पार पहुंच जाएगा, लेकिन केदार जाधव ने पड़ोसी देश के 2 विकेट उखाड़कर उन्हें बैकफुट पर धकेल दिया। दिल में धोनी के लिए खास सम्मान रखने वाले कोहली ने बताया कि जब हार्दिक पंड्या रन लुटा रहे थे तो पूर्व भारतीय कप्तान ने उनसे कहा कि रेग्युलर गेंदबाजों को आराम की जरूरत है और केदार जाधव इस मौके पर विकेट दिला सकता है। फिर क्या था, कोहली ने जाधव को गेंद थमाई और उन्होंने खतरनाक दिख रहे तमीम इकबाल और मुश्फिकुर रहीम को जल्दी-जल्दी आउट कर बांग्लादेश को बड़े झटके दिए। इसके बाद शाकिब-अल-हसन के आउट होने से बांग्लादेशी बल्लेबाजी की कमर ही टूट गई।

एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक कोहली ने कहा, केदार ने जो विकेट लिए, वे बोनस थे। धोनी ने कहा कि केदार एक अच्छा विकल्प है और वो विकेट ले सकता है। केदार जाधव ने कहा कि वह बल्लेबाज का दिमाग पढ़कर गेंदबाजी करते हैं। उन्होंने कहा, इससे पहले मैंने 6 विकेट चटकाए हैं, वो भी पुछल्ले नहीं बल्कि शीर्ष बल्लेबाजों के। मुझे महेंद्र सिंह धोनी ने बहुत गाइडेंस दी और सिर्फ आंखों के इशारे से मुझे पता चल गया कि क्या लेंथ डालनी है।

एेसे गिरे बांग्लादेश के विकेट:

यह पहली बार नहीं है, जब महेंद्र सिंह धोनी ने विराट कोहली को टिप्स दिए हों। इससे पहले द.अफ्रीका के खिलाफ मैच के बाद कोहली ने खुद बताया था कि धोनी के टिप्स उनके लिए कितने अहम होते हैं। दरअसल कोहली से एक पत्रकार ने पूछा था कि अफ्रीका से मैच में कई बार मैदान पर आपने महेंद्र सिंह धोनी से फील्ड सेटिंग और अन्य चीजों को लेकर बात की थी। क्या इस चीज से बतौर कप्तान आपको फायदा हुआ?

इस पर कोहली ने कहा था कि उनके टिप्स मैच की किसी भी स्थिति में काफी मददगार होते हैं। जैसा कि मैंने पहले भी कहा था कि पिछले मैच में हमने पार्ट टाइम बॉलर्स को आजमाने पर बातचीत की थी और उन्होंने ही कहा इसका जिक्र किया था। कोहली ने कहा था, मुझे भी लगा कि उन्हें अजमाया जाना चाहिए क्योंकि हमारे गेंदबाज काफी थक गए थे और पार्ट टाइमर्स के पास खोने के लिए कुछ था नहीं। इस रणनीति से श्रीलंकाई टीम के रन बनाने की गति धीमी हो गई। कोहली ने कहा था, द.अफ्रीका के खिलाफ मैच में भी स्लिप लगाने या वह फील्ड के बारे में क्या सोचने हैं पर मैंने उनसे राय ली थी। कोहली ने कहा था कि इतने अहम खिलाड़ी से मैच के किसी भी स्टेज पर टिप्स पाना बहुमूल्य होता है।

देखिए रोहित शर्मा का शतक: