ताज़ा खबर
 

LPL 2020 के युवा स्टार; 22 साल के बल्लेबाज ने गेंदबाजों को धोया, कैश अहमद ने लिए मोहम्मद आमिर से भी ज्यादा विकेट

पाकिस्तान के आजम खान ने अपनी बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया। उन्होंने 10 मैच में 30.71 की औसत से 230 रन बनाए। आजम ने अपने देश के सीनियर बल्लेबाज शोएब मलिक से भी ज्यादा रन बनाए। उन्होंने टूर्नामेंट में 18 चौके और 16 छक्के लगाए।

LPL 2020, Qais Ahmed, Mohammad Amir, Azam Khan, Shoaib Malikकैश अहमद, नवीन-उल-हक और आजम खान लंका प्रीमियर लीग में जबरदस्त प्रदर्शन करने वाले युवा खिलाड़ी रहे। (सोर्स – सोशल मीडिया

लंका प्रीमियर लीग (Lanka Premier League 2020) में दुनिया भर के खिलाड़ियों ने अपने जलवे दिखाए। भारत के पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान और मुनाफ पटेल ने भी टूर्नामेंट में हिस्सा लिया। 45 साल के शाहिद अफरीदी से लेकर 20 साल के कैश अहमद ने मैदान पर शानदार प्रदर्शन किया। टूर्नामेंट से निकले युवा स्टार की बात करें तो अफगानिस्तान के 20 वर्षीय के कैश अहमद और 21 वर्षीय नवीन-उल-हक ने अपनी छाप छोड़ी। पाकिस्तान के 22 वर्षीय आजम खान ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। श्रीलंका के वनिंदु हसरंगा (23) प्लेयर ऑफ टूर्नामेंट बने।

सबसे पहले बात करेंगे कैश अहमद की। अफगानिस्तान के इस युवा खिलाड़ी सबको प्रभावित किया है। कैश ने 9 मैच में 12 विकेट अपने नाम किए। वे अफगानिस्तान के लिए एक टेस्ट और एक टी20 मैच खेल चुके हैं। कैश ने लंका प्रीमियर लीग में 16.25 की औसत से गेंदबाजी की। उन्होंने जरूरी के समय बल्लेबाजी में हाथ दिखाए। एक अर्धशतक लगाया और कई छोटी-छोटी तेज पारियां खेलीं। कैश का उच्चतम स्कोर नाबाद 50 रन रहा। उन्होंने दांबुला विकिंग के खिलाफ 22 गेंद की पारी में 2 चौके और 5 छक्के लगाए थे।

पाकिस्तान के आजम खान ने अपनी बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया। उन्होंने 10 मैच में 30.71 की औसत से 230 रन बनाए। आजम ने अपने देश के सीनियर बल्लेबाज शोएब मलिक से भी ज्यादा रन बनाए। उन्होंने टूर्नामेंट में 18 चौके और 16 छक्के लगाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 186.96 रहा। वहीं, अफगानिस्तान के नवीन-उल-हक ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 5 मैच में 8 विकेट लिए। उन्हें अब तक अफगानिस्तान के लिए खेलने का मौका नहीं मिला है, लेकिन जल्द ही वो देश के लिए खेल सकते हैं। नवीन इस टूर्नामेंट में शाहिद अफरीदी से हुए झगड़े को लेकर भी चर्चा में रहे।

वनिंदु हसरंगा की बात करें तो उन्होंने श्रीलंका के लिए 2017 में डेब्यू तो कर लिया था, लेकिन खराब प्रदर्शन के बाद टीम से बाहर भी हो गए थे। 3 साल में सिर्फ 15 वनडे और 12 टी20 मैच ही खेल सके। लंका प्रीमियर लीग में उन्होंने शानदार गेंदबाजी और बल्लेबाजी की। वनिंदु टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे। उन्होंने 10 मैच में 17 विकेट झटके। उनका औसत 11.29 का रहा। ऐसे प्रदर्शन के बाद इस युवा खिलाड़ी के अंदर जबरदस्त आत्मविश्वास आया होगा। वे आगे श्रीलंका के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं।

Next Stories
1 पीयूष चावला ने स्पोर्ट्स कोटे से नौकरी हासिल करने के लिए शुरू की थी क्रिकेट, कपिल शर्मा के शो पर किया था खुलासा
2 India vs Australia- भारतीय टीम 244 रनों पर सिमटी, मिशेल स्टार्क ने चटकाए 4 विकेट
3 जब सचिन तेंदुलकर ने अमिताभ बच्चन को बताया था माउंट एवरेस्ट, बिगबी ने दिया था दिल छू लेना वाला जवाब
ये पढ़ा क्या?
X