ताज़ा खबर
 

BCCI पंद्रह अक्तूबर तक लागू करे 15 कदम: लोढ़ा समिति

न्यायमूर्ति आर एम लोढ़ा समिति ने बीसीसीआइ को संवैधानिक सुधारों से जुड़े 15 बिंदुओं को लागू करने के लिए 15 अक्तूबर तक का समय दिया है।

Author नई दिल्ली | August 10, 2016 04:18 am
BCCI अध्यक्ष अनुराग ठाकुर

न्यायमूर्ति आर एम लोढ़ा समिति ने बीसीसीआइ को संवैधानिक सुधारों से जुड़े 15 बिंदुओं को लागू करने के लिए 15 अक्तूबर तक का समय दिया है। इनमें आकर्षक प्रसारण अधिकारों समेत विभिन्न तरह के अनुबंध देने की नीति से जुड़े सुधार भी शामिल हैं। इन निर्देशों के अनुसार बीसीसीआइ सचिव अजय शिर्के ने समिति के सदस्यों से मुलाकात की। उन्होंने अध्यक्ष अनुराग ठाकुर की तरफ से एक पत्र भी समिति को सौंपा, जिन्होंने संसद सत्र को उनकी अनुपस्थिति का कारण बताया।

लोढ़ा समिति के एक करीबी सूत्र ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि लोढ़ा समिति ने संवैधानिक सुधारों से जुड़े 15 विशेष कदमों को लागू करने के लिए बीसीसीआइ को 15 अक्तूबर तक का समय दिया है। शिर्के ने पैनल को सूचित किया कि इस संदर्भ में उठाए जा रहे कदमों के बारे में बीसीसीआइ पहली अनुपालन रिपोर्ट 25 अगस्त तक समिति को सौंप देगी।

यह पूछने पर कि किन कदमों को उठाए जाने की जरूरत है तो सूत्र ने कहा कि ये विशेष रूप से संघों की सहमति ज्ञापन की धारा में संशोधनों से संबंधित हैं। सूत्र ने कहा कि यह संघों की सहमति ज्ञापनों में संशोधनों, राज्य क्रिकेट संघों के संविधान के दस्तावेजों और अनुबंध देने के सिद्धांतों से संबंधित हैं। पैनल से जुड़े करीबी सूत्र के अनुसार सचिव शिर्के ने फिर से हाई कोर्ट के फैसले में बरकरार रखी गई कुछ सिफारिशों को लागू करने में व्यवहारिक मुश्किलों के बारे में बात की।

पता चला है कि शिर्के ने कुछ सुधारों के लागू करने में व्यवहारिक दिक्कतों का भी जिक्र किया जिसमें एक राज्य-एक मतदान, पदाधिकारियों की उम्र 70 साल तक सीमित करना, कुल मिलाकर नौ साल का कार्यकाल और बीच में तीन साल का ब्रेक का समय शामिल है। सूत्रों के अनुसार पैनल के सदस्यों ने शिर्के को बताया कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले की ‘पवित्रता’ को देखते हुए इसमें कुछ भी नहीं किया जा सकता। बीसीसीआइ सचिव ने पैनल को यह भी सूचित किया कि बोर्ड पुनरीक्षण समीक्षा दायर करेगा। यह बैठक करीब डेढ़ घंटे तक चली।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App