ताज़ा खबर
 

3rd Test India vs South Africa : पहले दिन गेंदबाजों का दबदबा कायम, 215 रन पर आउट

टीम इंडिया को मोर्ने मोर्केल (3/38) और सिमोन हारमर (4/78) को खेलने में काफी परेशानी हुई। भारत की ओर से सर्वाधि‍क 40 रन ओपनर मुरली विजय ने बनाए।

Author नागपुर | November 26, 2015 1:09 AM
नागपुर में खेले जा रहे तीसरे टेस्‍ट मैच में शॉट खेलते भारतीय कप्‍तान विराट कोहली। कोहली 22 रन बनाकर आउट हुए। (फोटो REUTERS)

स्पिनरों के लिए पहले दिन से ही जन्नत बनी जामथा की पिच पर भारत ने अपेक्षाकृत कम स्कोर पर आउट होने के बाद दक्षिण अफ्रीका को भी दो झटके देकर तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच को शुरुआती दिन रोमांचक स्थिति में पहुंचा दिया। पहले बल्लेबाजी के लिए उतरने वाले भारत की पूरी टीम 78.2 ओवर में 215 रन पर आउट हो गई। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही और उसने पहले दिन का खेल खत्म होने तक नौ ओवर में दो विकेट पर 11 रन बनाए हैं। टर्न लेती पिच पर रविचंद्रन अश्विन एंड कंपनी का सामना करना उसके बल्लेबाजों के लिए सबसे बड़ी चुनौती होगी।

मौजूदा शृंखला में लगातार तीसरे टैस्ट मैच में पहले दिन ही पहली पारी पूरी समाप्त हो गई। भारत का कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाया। उसने लंच से पहले दोनों सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (12) और मुरली विजय (40) के विकेट गंवाकर 85 रन बनाए थे। दूसरा सत्र तो पूरी तरह से दक्षिण अफ्रीका के नाम रहा। इस बीच भारत ने 64 रन जोड़े। लेकिन मध्यक्रम के चार अहम बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (21), कप्तान विराट कोहली (22) , अंजिक्य रहाणे (13) और रोहित शर्मा (दो) पवेलियन लौटे।

रविंद्र जडेजा (34) और विकेटकीपर रिद्धिमान साहा (32) ने बीच में कुछ समय के लिए विकेट गिरने का क्रम रोका। इन दोनों ने सातवें विकेट के लिए 48 रन जोड़े। निचले क्रम में केवल अश्विन (15) ही दोहरे अंक में पहुंचे। भारत ने तीसरे सत्र में बाकी बचे चारों विकेट गंवाए और इस बीच 66 रन जोड़े।

विकेटों का पतन यहीं पर नहीं थमा। जब दक्षिण अफ्रीकी पारी शुरू हुई तो उसने चौथे ओवर में स्टियान वान जिल का विकेट गंवा दिया। आॅफ स्पिनर अश्विन की फुल लेंथ गेंद को उन्होंने रक्षात्मक तरीके से खेलने का प्रयास किया। लेकिन वह बल्ले का किनारा लेकर पहली स्लिप में रहाणे के पास पहुंच गई। यह लगातार चौथा अवसर है जबकि अश्विन ने खराब फार्म में चल रहे वान जिल को आउट किया।

बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा ने नाइट वाचमैन इमरान ताहिर (चार) को बोल्ड करके उन्हें लगभग छह ओवर बचे होने के बावजूद क्रीज पर भेजने का दक्षिण अफ्रीका का दांव नहीं चलने दिया। स्टंप उखड़ने के समय सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर सात रन पर खेल रहे थे जबकि कप्तान हाशिम अमला को अभी खाता खोलना है। इशांत शर्मा के साथ नी गेंद संभालने वाले अश्विन ने अब तक चार ओवरों में पांच रन देकर एक विकेट जबकि बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा ने तीन ओवरों में दो रन देकर एक विकेट लिया है।

विकेट में पहले दिन से ही काफी टर्न दिख रहा है और ऐसे में कोहली ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला करने में कोई हिचहिचाहट नहीं दिखायी। इसके बाद धवन और विजय ने पहले विकेट के लिए 50 रन जोड़कर लगातार दूसरी अर्धशतकीय साझेदारी निभाई। इन दोनों बल्लेबाजों के दूसरे घंटे में आउट होने के बाद भारतीय पारी का नाटकीय पतन शुरू हुआ।
इससे पहले भारत ने लंच के बाद 15 ओवर के अंदर केवल 31 रन के अंदर चार विकेट गंवाए। मोर्कल और आॅफ स्पिनर साइमन हार्मर ने सबसे अधिक नुकसान पहुंचाया। मोर्कल को हालांकि पारी के दौरान मांसपेशियों में खिंचाव के कारण मैदान छोड़ना पड़ा जो पहले ही चोटिल खिलाड़ियों की समस्या से जूझ रहे दक्षिण अफ्रीका के लिए करारा झटका है।

डेल स्टेन की अनुपस्थिति में मोर्कल को दूसरे छोर से एक अदद तेज जोड़ीदार की कमी खली। मोर्कल ने 35 रन देकर तीन विकेट लिए जबकि हार्मर ने अधिकतर राउंड द विकेट गेंदबाजी की। उन्होंने भी स्पिन की मददगार पिच का फायदा उठाते हुए 78 रन देकर चार विकेट लिए। कैगिसो रबादा, डीन एल्गर और इमरान ताहिर ने एक एक विकेट हासिल किया। भारत को सुबह के सत्र में पहले घंटे में कोई झटका नहीं लगा। लेकिन इसके बाद उसने विजय और धवन के विकेट गंवाए।

धवन ने एल्गर की गेंद पर ड्राइव करने के प्रयास में गेंदबाज को वापस कैच थमाया। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 23 गेंदें खेली। यह शृंंखला में तीसरा मौका है जब वे कम स्कोर पर आउट हुए। मोहाली में धवन दोनों पारियों में खाता नहीं खोल पाए थे जबकि बेंगलुरू में उन्होंने नाबाद 45 रन बनाए। पुजारा ने इमरान ताहिर पर दो चौके जमाकर अच्छी शुरुआत की, लेकिन भारत ने जल्द ही विजय का विकेट गंवा दिया। मोर्कल ने फुल लेंथ गेंद पर उन्हें पगबाधा आउट किया। विजय ने 84 गेंदें खेली और तीन चौके और हार्मर पर एक छक्का लगाया।

मोर्कल ने दूसरे सत्र में कोहली और रहाणे के विकेट भी लिए। तीसरे स्पैल में उनका गेंदबाजी विश्लेषण चार ओवर, दो मेडन, आठ रन, दो विकेट था। पुजारा को हार्मर ने तेजी से टर्न लेती गेंद पर पगबाधा आउट किया और इसके बाद उन्होंने रोहित को भी पवेलियन की राह दिखायी जो क्रीज पर अपनी मौजूदगी के दौरान जूझते हुए नजर आए। रोहित ने 28 गेंदों का सामना करके दो रन बनाए। चाय के बाद जडेजा और साहा ने दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों को अगली सफलता के लिए कुछ समय तक इंतजार कराया। टैस्ट टीम में वापसी से पहले सौराष्ट्र की तरफ से राजकोट की इसी तरह की पिच पर खेलने वाले जडेजा ने अपने उस अनुभव का अच्छा इस्तेमाल करके कुछ दर्शनीय शाट भी लगाए।

रबादा ने हालांकि जडेजा को लगातार परेशान किया और आखिर में उनकी फुललेंथ गेंद इस आलराउंडर के बल्ले को चूमकर विकेटों में समा गई। जडेजा ने 54 गेंदें खेलीं और छह चौके लगाए। साहा ने दूसरे छोर से आत्मविश्वास के साथ बल्लेबाजी की, लेकिन हार्मर की गेंद पर फ्लिक करने के प्रयास में वह अपनी एकाग्रता खो बैठे और डुमिनी को कैच देकर पैवेलियन लौटे। उनकी 106 गेंद की पारी में चार चौके शामिल हैं। इसके बाद भारतीय पारी सिमटने में देर नहीं लगी।

स्कोर बोर्ड :
भारत पहली पारी: मुरली विजय पगबाधा बो मोर्कल 40, शिखर धवन का एंड बो एल्गर 12 , चेतेश्वर पुजारा पगबाधा बो हार्मर 21, विराट कोहली का विलास बो मोर्कल 22, अंजिक्य रहाणे बो मोर्कल 13, रोहित शर्मा का डिविलियर्स बो हार्मर 02, रिद्धिमान साहा का डुमिनी बो हार्मर 32, रविंद्र जडेजा बो रबादा 34, रविचंद्रन अश्विन बो ताहिर 15, अमित मिश्रा पगबाधा बो ताहिर 03, इशांत शर्मा नाबाद 00, अतिरिक्त 21
कुल : 78.2 ओवरों में, सभी आउट : 215
विकेट पतन : 1-50, 2-69, 3-94, 4-115, 5-116, 6-125, 7-173, 8-201, 9-215
गेंदबाजी: मोर्कल 16.1-7-35-3, रबादा 17-8-30-0, हार्मर 27.2-2-78-4, एल्गर 4-0-7-1, ताहिर 12.5-1-41-1, डुमिनी 1-0-6-0
दक्षिण अफ्रीका पहली पारी:
डीन एल्गर खेल रहे हैं 07, स्टियान वान जिल का रहाणे बो अश्विन 00, इमरान ताहिर बो जडेजा 04, हाशिम अमला खेल रहे हैं 00, अतिरिक्त 00, कुल : नौ ओवर में, दो विकेट पर : 11 रन ।
विकेट पतन : 1-4, 2-9, गेंदबाजी: इशांत 2-1-4-0, अश्विन 4-2-5-1, जडेजा 3-1-2-1

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App