ताज़ा खबर
 

खतरनाक गेंदबाज लसिथ मलिंगा के बारे में शिखर धवन ने कही यह बड़ी बात, पढ़कर चौंक जाएंगे

33 साल के मलिंगा वनडे क्रिकेट में 300 विकेट लेने से 2 कदम दूर हैं। पहले वनडे में वह एक भी विकेट नहीं चटका सके थे।

भारतीय बल्लेबाज शिखर धवन और श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा।

पहले वनडे में शानदार शतक जड़ने वाले टीम इंडिया के ओपनर शिखर धवन ने कहा है कि श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा और थोड़े बूढ़े हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि उनकी तेजी कम हो गई है, जिसकी वजह से वह बल्लेबाज पर भारी पड़ते थे। यह प्राकृतिक है। धवन ने कहा, मलिंगा ने लंबे समय तक क्रिकेट खेला है और उनकी उम्र पर बढ़ने लगी है। यह जीवन चक्र है। 33 साल के मलिंगा वनडे क्रिकेट में 300 विकेट लेने से 2 कदम दूर हैं। पहले वनडे में वह एक भी विकेट नहीं चटका सके थे। उन्होंने 8 ओवर गेंदबाजी की और 52 रन लुटाए। चोट के बाद मलिंगा ने 6 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 4 विकेट झटके हैं। उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ भी वनडे सीरीज खेली थी, जिसमें श्रीलंका को करारी शिकस्त मिली थी। वहीं पिछले 9 मैचों में मलिंगा को 7 विकेट ही मिले हैं। 200 वनडे मैच खेल चुके इस तेज गेंदबाज ने 28.57 की औसत से 298 विकेट लिए हैं, जिसमें उनका इकनॉमी रेट 5.29 का है। वहीं 30 टेस्ट मैचों में उन्होंने 33.15 की औसत से 101 विकेट लिए हैं। टी20 में भी उनका प्रदर्शन शानदार रहा है। 67 मैचों में उनकी गेंदों ने 89 बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 19959 MRP ₹ 26000 -23%
    ₹0 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 8925 MRP ₹ 11999 -26%
    ₹446 Cashback

गौरतलब है कि पहले वनडे में शिखर धवन ने श्रीलंका के खिलाफ शानदार 132 रन जड़कर टीम इंडिया को 9 विकेट से जीत दिलाई थी। धवन ने सिर्फ 71 गेंदों में शतक जड़ा था। इसी के साथ वह श्रीलंका के खिलाफ दूसरा सबसे तेज वनडे शतक जड़ने वाले खिलाड़ी बन गए थे। यह धवन के करियर की 11वीं सेंचुरी थी। इसी के साथ वह विश्व क्रिकेट में 40वें और भारत के 9वें एेसे खिलाड़ी बन गए थे, जिन्होंने वनडे क्रिकेट में 11 सेंचुरी जड़ी हैं। अन्य 39 खिलाड़ियों में तीन ही एेसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने धवन से कम पारियां खेलकर 11 शतक जड़े हैं।

धवन ने 86वीं पारी में यह मुकाम हासिल किया है। अॉस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्न भी उन्हीं के साथ संयुक्त रूप से काबिज हैं। साउथ अफ्रीका के ओपनर्स हाशिम अमला और क्विंटन डी कॉक ने क्रमश: 64 और 65वीं पारी में 11 शतक जड़े थे। वहीं भारतीय कप्तान को यह मुकाम हासिल करने में 82 पारियां लग गई थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App