ताज़ा खबर
 

न्यूजीलैंड के लिए खतरा बन सकता है मलिंगा का ‘एक्स फेक्टर’

आत्मविश्वास से भरा न्यूजीलैंड और लय की तलाश में जुटा पूर्व चैम्पियन श्रीलंका यहां क्रिकेट विश्व कप के शुरुआती मैच में आमने सामने होंगे। ऑस्ट्रेलिया के साथ विश्व कप की सह मेजबानी कर रहे न्यूजीलैंड ने इस टूर्नामेंट से पूर्व एकदिवसीय श्रृंखला में श्रीलंका के खिलाफ 4-2 से जीत दर्ज की थी जबकि अभ्यास मैच […]

Author Published on: February 13, 2015 2:00 PM

आत्मविश्वास से भरा न्यूजीलैंड और लय की तलाश में जुटा पूर्व चैम्पियन श्रीलंका यहां क्रिकेट विश्व कप के शुरुआती मैच में आमने सामने होंगे।

ऑस्ट्रेलिया के साथ विश्व कप की सह मेजबानी कर रहे न्यूजीलैंड ने इस टूर्नामेंट से पूर्व एकदिवसीय श्रृंखला में श्रीलंका के खिलाफ 4-2 से जीत दर्ज की थी जबकि अभ्यास मैच में दक्षिण अफ्रीका को हराकर उसने अच्छी तैयारी का सबूत पेश किया।

दूसरी तरफ न्यूजीलैंड के हाथों शिकस्त के बाद श्रीलंका को अभ्यास मैच में कमजोर समझे जाने वाले जिंबाब्वे के हाथों भी शिकस्त झेलनी पड़ी लेकिन इन सभी मैचों में वह अपने दिग्गज तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा के बिना उतरा।

श्रीलंका के कप्तान एंजेलो मैथ्यूज के मुताबिक मलिंगा का ‘एक्स फेक्टर’ अंतर पैदा करेगा। न्यूजीलैंड के सीनियर बल्लेबाज रोस टेलर ने मलिंगा को ‘क्रिकेट का संभवत: सर्वश्रेष्ठ डेथ ओवरों का गेंदबाज’ करार दिया है।

टखने की चोट के कारण छह महीने बाद वापसी कर रहे मलिंगा की मौजूदगी के बावजूद न्यूजीलैंड को मैच में प्रबल दावेदार माना जा रहा है।

पिछले एक साल में न्यूजीलैंड काफी संतुलित टीम बन गया है और मार्टिन गुप्टिल तथा मैकुलम की सलामी जोड़ी के लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं करने के बावजूद टीम चिंतित नहीं है। कोच माइक हेसन का मानना है कि अगर ये विफल रहते हैं तो यह निचले क्रम में किसी और बल्लेबाज के लिए मौका देगा।

तीसरे और चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले केन विलियमसन और टेलर शानदार फॉर्म में हैं जबकि ल्यूक रोंची ने श्रीलंका के खिलाफ नाबाद 170 रन की पारी खेली थी। इसके अलावा ऑलराउंडर कोरी एंडरसन और ग्रांट इलियट भी लय में हैं।

टीम के पास टिम साउथी, ट्रेंट बोल्ट, काइल मिल्स, एडम मिल्ने और मिशेल मैकलेनाघन के रूप में तेज गेंदबाजी में काफी विकल्प मौजूद हैं जबकि स्पिन गेंदबाजी का दारोमदार डेनियल विटोरी और नाथन मैकुलम के कंधों पर होगा।

इसमें कोई शक नहीं कि श्रीलंका को मलिंगा की सख्त जरूरत है जो अपनी सटीक गेंदबाजी से किसी भी टीम को ध्वस्त कर सकते हैं। इसके अलावा श्रीलंका के पास महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा और तिलकरत्ने दिलशान के रूप में अनुभवी बल्लेबाज हैं।

वर्ष 1996 का विजेता तथा 2007 और 2011 में पिछले दो टूर्नामेंटों का उप विजेता श्रीलंका जब लय में होता है तो उसके लिए कुछ भी मुश्किल नहीं होता लेकिन मलिंगा के बिना ऐसा नहीं हो पा रहा है।

मैथ्यूज मलिंगा को श्रीलंका और न्यूजीलैंड के बीच के अंतर के रूप में देखते हैं। श्रीलंका को संगकारा से एक बार फिर अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी जो 2014 में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे।

लाहिरू थिरिमाने, दिमुथ करूणारत्ने और दिनेश चांदीमल श्रीलंका की बल्लेबाजी को गहराई प्रदान करते हैं लेकिन ये सभी हाल में एक साथ अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं।

मलिंगा और स्पिनर रंगना हेराथ कप्तान मैथ्यूज के साथ गेंदबाजी आक्रमण की अगुआई करेंगे जबकि बीच के ओवरों में गेंदबाजी की जिम्मेदारी जीवन मेंडिस, तिषारा परेरा और नुवान कुलशेखरा पर होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories