ताज़ा खबर
 

IPL-8: घरेलू मैदान पर नई शुरुआत करने उतरेगी किंग्स इलेवन पंजाब

घर से बाहर खराब प्रदर्शन को भूल कर किंग्स इलेवन पंजाब की टीम सोमवार को यहां होने वाले आइपीएल के अपने मैच में सनराजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत दर्ज कर हार के सिलसिले को थामना चाहेगी...

Author April 27, 2015 1:01 PM
फिलहाल पंजाब की टीम अंक तालिका में सबसे नीचे है। (फोटो स्रोत: बीसीसीआई/आईपीएल)

राकेश राकी

घर से बाहर खराब प्रदर्शन को भूल कर किंग्स इलेवन पंजाब की टीम सोमवार को यहां होने वाले आइपीएल के अपने मैच में सनराजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत दर्ज कर हार के सिलसिले को थामना चाहेगी।

फिलहाल पंजाब की टीम अंक तालिका में सबसे नीचे है। पिछले साल की उपविजेता टीम का प्रदर्शन इस लिहाज से इस आइपीएल में अब तक बेहतर नहीं रहा है। न तो बल्लेबाज चले हैं और न ही गेंदबाज। बल्लेबाजी में धुआंधार करने वाले कई खिलाड़ी हैं लेकिन अब तक वे उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे हैं और यही वजह है कि टीम का प्रदर्शन ठीक नहीं रहा है और वह छह में से चार मैच गंवा चुकी है। अब उसे प्लेऑफ में जगह बनानी है तो अपने घरेलू मैदान से जीत के साथ नई शुरुआत करनी होगी।

धर्मशाला, मोहाली के बाद पंजाब की टीम का दूसरा होम ग्राऊंड था लेकिन वहां इस बार सरकार और एचपीसीए में झगड़े के कारण कोई मैच नहीं हो रहा लिहाजा उसे शुरू के छह मैच घर से दूर खेलने पड़े हैं। अब जबकि वह घर लौट चुकी है, बल्लेबाजों की खराब फॉर्म से उबरकर उसे नई शुरुआत करने की जरूरत है।

पिछले आइपीएल में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली पंजाब की टीम इस बार अभी जीत की लय पाने का इंतजार कर रही है। उसके पास डेविड मिलर, वीरेंद्र सहवाग, शॉन मार्श और ग्लेन मैक्सवेल जैसे दिग्गज हैं लेकिन वे कुछ खास नहीं कर पाए हैं जिसका खमियाजा टीम को हार के रूप में भुगतना पड़ा है। उसका मुकाबला सोमवार को हैदराबाद से है जो फिलहाल पांचवें स्थान पर है। पिछले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के 193 रन का पीछा करते हुए पंजाब की बल्लेबाजी ताश के पत्तों की तरह बिखरी। उसने महज 95 रन पर छह विकेट गंवा दिए उससे जाहिर होता है कि पंजाब को अगर प्लेऑफ की दौड़ में आना है तो उसके दिग्गज बल्लेबाजों को लय पानी होगी।

भारतीय टीम से बाहर सहवाग जैसे दिग्गज को फॉर्म में आने की जरूरत है क्योंकि वे जैसी शुरुआत देते हैं वह किसी भी टीम की नैय्या पार लगा सकती है। कप्तान जॉर्ज बैली एकाध मैच में टीम से बाहर थे लेकिन अब लौट आए हैं और संभावना है कि वे ही सोमवार को पंजाब की टीम का नेतृत्व करेंगे हालांकि उनका खुद का प्रदर्शन भी कुछ खास संतोषजनक नहीं रहा है। पंजाब को अपने तेज गेंदबाज मिचेल जॉनसन पर हमेशा भरोसा रहा है लेकिन वे भी लय में नहीं दिख रहे। सीएसके साथ मैच में उन्होंने अपने चार ओवर में 39 रन खर्च कर दिए थे और कोई विकेट भी नहीं ले पाए।

विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा की जैसी तारीफ टैस्ट कप्तान विराट कोहली ने दो दिन पहले की है और एक तरह से यह भविष्यवाणी ही कर दी है कि उनकी कप्तानी में साहा ही देश की टैस्ट टीम के विकेटकीपर होंगे, उससे निश्चित ही उनके हौसले में इजाफा हुआ होगा। देखना यह है कि वे पहले ग्यारह में होते हैं तो कितना बेहतर प्रदर्शन करते हैं। मनन बोहरा को भी अपने घरेलू मैदान में टीम उतार सकती है।

उधर, सन राइजर्स हैदराबाद की टीम भी पंजाब की तरह भी समस्याओं से जूझती दिख रही है। डेविड वॉर्नर की कप्तानी में यह टीम अभी तक इक्का-दुक्का जीत ही हासिल कर पाई है हालांकि उसके पास दुनिया के सबसे तेज गेंदबाज माने जाने वाले डेल स्टेन और ट्रेंट बोल्ट हैं और वॉर्नर, शिखर धवन, केन विल्यिमसंस जैसे बल्लेबाज हैं। वॉर्नर और धवन वैसे पिछले मैचों को उतने फ्लॉप नहीं रहे हैं लेकिन उनसे टीम और बेहतर की उम्मीद निश्चित ही कर रही होगी। जम्मू कश्मीर के ऑलराउंडर परवेज रसूल भी हैदराबाद की टीम में हैं और उन्हें इस मैदान पर खेलने का अवसर मिल सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App