ताज़ा खबर
 

एथलेटिक फेडरेशन ने हिमा दास की तारीफ में किया ट्वीट, भड़क गए कुमार विश्‍वास

हिमा दास की जीत पर एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने ऐसा ट्वीट किया, जिस पर कुमार विश्वास सहित अन्य लोग भड़क गए। आखिरकार फेडरेशन को माफी मांगनी पड़ी।

हिमा दास (Pic credit- Twitter)

भारत की युवा एथलीट हिमा दास ने आईएएएफ वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनिशप में गोल्ड मेडल जीतकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। हिमा ने 51.46 सेकेंड में 400 मीटर की रेस पूरी कर फिनलैंड के टामपेर में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। हिमा की इस जीत पर पूरे इंडिया में जश्न मनाया जा रहा है। इस बीच एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने ऐसा ट्वीट किया जिस पर कुमार विश्वास भड़क गए। आखिरकार एथलेटिक्स फेडरेशन को माफी मांगनी पड़ी।

दरअसल, एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने ट्वीट किया, “मीडिया से बात करते हुए हिमा दास अंग्रेजी में फ्लूयंट नहीं थी, लेकिन उन्होंने यहां अपना बेस्ट दिया। इसलिए हमें हिमा पर गर्व है। हिमा दास इसी तरह लगी रहो। फाइनल में अपना सर्वश्रेष्ठ करो।” एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के ट्वीट पर कुमार विश्वास भड़क गए। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अंग्रेजी फ्लूयंट नहीं है? मतलब? धाविका की मैदान में गति अपेक्षित है या अंग्रेजी में? खेल मंत्री से आग्रह है कि संस्थान की इस आवंछनीय भाषा का संज्ञान लें। वेगवती भारत पुत्री हिमा दास को तिरंगे की लहर-लहर बधाईयां। कुमार विश्वास के बाद गायिका मालिनी अवस्थी ने भी एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया को खरी खोटी सुनाई। उन्होंने ट्वीट किया, “औपनिवेशिक मानसिकता का फूहड़ उदाहण देखिए! हीन भावना से ग्रस्त अंग्रेजी के गुलाम, खुद अंग्रेजी लिखने का ज्ञान नहीं है और तेवर देखिए! सोनपरी हिमा दास की काबिलियत को देखने की दृष्टि आपके पास नहीं है।”

 

अपनी किरकिरी होते देख आखिरकार एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया को माफी मांगनी पड़ी। फेडरेशन ने ट्वीट किया कि सभी भारतवासियों से क्षमा अगर हमारी एक ट्वीट से आप आहत हुए हैं। असल उद्देशय यह दर्शाना था कि हमारी धाविका किसी भी कठिनाई से नहीं घबराती, मैदान के अंदर या बाहर! छोटे से गांव से आने के बावजूद, विदेश में अंग्रेजी पत्रकार से बेझिझक बाती की। एक बार उनसे क्षमा जो नाराज हैं। फेडरेशन के माफी मांगने के बाद कुमार विश्वास ने आभार जताया। कहा कि हिमा दास की विजय से पूरे देश में उत्सव का माहौल है। प्रयास कीजिए कि आपके द्वारा दी गई सुविधाओं से प्रेरित होकर ऐसी असंख्य बेटियां-बेटे देश को विश्व खेल रंगमंच पर चढ़ते तिरंगे के सुनहरे पल देते रहें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App