ताज़ा खबर
 

गिल ने जेटली को हाकी विवाद में घसीटा, बत्रा ने किया खंडन

अरुण जेटली पर और दबाव बनाने की कवायद में प्रतिबंधित भारतीय हाकी महासंघ के अध्यक्ष केपीएस गिल ने बुधवार को वित्त मंत्री को हाकी इंडिया के मामले में घसीटा।
Author नई दिल्ली | December 24, 2015 00:14 am
वित्त मंत्री अरुण जेटली (पीटीआई फोटो)

अरुण जेटली पर और दबाव बनाने की कवायद में प्रतिबंधित भारतीय हाकी महासंघ के अध्यक्ष केपीएस गिल ने बुधवार को वित्त मंत्री को हाकी इंडिया के मामले में घसीटते हुए दिल्ली सरकार से अनुरोध किया कि वह भाजपा के इस दिग्गज नेता के हाकी इंडिया में हितों के टकराव की जांच करे। हाकी इंडिया के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने गिल ने इन आरोपों को खारिज करते हुए बेबुनियाद बताया है। पूर्व वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गिल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि जेटली ने अपनी बेटी सोनाली को हाकी इंडिया का वकील नियुक्त किया जब वे हाकी इंडिया लीग के सलाहकार बोर्ड में थे।

दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ का अध्यक्ष रहते भ्रष्टाचार पर परदा डालने के आम आदमी पार्टी, कांग्रेस और भाजपा सांसद कीर्ति आजाद द्वारा लगाए गए आरोपों का सामना कर रहे जेटली पर यह ताजा हमला है। गिल ने ये आरोप डीडीसीए में कथित अनियमितताओं की जांच के लिए एक आयोग के गठन का प्रस्ताव दिल्ली विधानसभा से मंगलवार को पास किए जाने के बाद लगाए हैं। आइएचएफ सचिव अशोक माथुर ने कहा कि गिल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर हाकी इंडिया में जेटली के हितों के टकराव की जांच करने को कहा है। हाकी इंडिया दिल्ली रजिस्ट्रार आफ सोसायटीज के तहत रजिस्टर्ड है लिहाजा दिल्ली सरकार को मामले की जांच का अधिकार है। इससे पहले जेटली ने डीडीसीए मामले में उनके खिलाफ बयानबाजी करने वाले केजरीवाल समेत छह व्यक्तियों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था। उसमें हालांकि भाजपा निलंबित सांसद कीर्ति आजाद का नाम नहीं था।

हाकी इंडिया के अध्यक्ष बत्रा ने गिल के आरोप का खंडन करते हुए कहा कि गिल अपना पुराना हिसाब बराबर करने के लिये ‘मनगढंत’ आरोप गढ़े हैं। बत्रा ने स्वीकार किया कि जेटली की वकील पुत्री सोनाली ने बहुत कम समय के लिए बहुत केसों में कुछ केस लड़े हैं लेकिन उन्होंने कहा कि यह पेशेवर मामला है और इसमें किसी के लिये हित की बात कहना अनुचित है। जेटली पर और दबाव बनाने की कवायद में गिल ने वित्त मंत्री को हाकी इंडिया के मामले में घसीटते हुए दिल्ली सरकार से अनुरोध किया कि वह भाजपा के इस दिग्गज नेता के हाकी इंडिया में हितों के टकराव की जांच करे। बत्रा ने गिल के अरोपों का खंडन करते हुए कहा कि सभी आरोप आधारहीन’ हैं।

जेटली के कार्यकाल के दौरान डीडीसीए में पैसे की हेरफेर पर कीर्ति आजाद के इंकशाफ पर हाकी इंडिया के अध्यक्ष नरेंदर बत्रा ने कहा कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर के आरोप ‘झूठों का पुलिंदा’ हैं और उन्होंने जो भी रसीद दिखाई हैं वे सभी फर्जी हैं। बत्रा ने कहा कि कीर्ति आजाद ने मेरे खिलाफ कम से कम 20 आरटीआइ दायर की है। लेकिन हर बार वे और अधिक झूठ बोलते रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule