ताज़ा खबर
 

India vs England 4th Test: कप्‍तान कोहली ने टीम को लेकर किया खुलासा! पिछले 38 टेस्‍ट मैचों में नहीं हुआ ऐसा

भारतीय टीम 0-2 से पिछड़ने के बाद नाटिघंम में तीसरे टेस्ट में 203 रन की जीत से पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में वापसी करने में सफल रही। कोहली ने अपनी टीम से कड़ी मेहनत जारी रखते हुए इसी लय को चौथे टेस्ट में बनाये रखने की बात कही।

Author Updated: August 30, 2018 7:56 AM
भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Photo: Reuters)

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि आर अश्विन कूल्हे की चोट से उबर गये हैं और इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में खेलने के लिये फिट हैं। साथ ही उन्होंने संकेत दिया कि वह अंतिम एकादश में कोई बदलाव नहीं करेंगे, जैसा कि पिछले 38 टेस्ट में वह प्रत्येक टीम में बदलाव करते रहे हैं। भारत ने पिछले 45 टेस्ट में अपनी टीम में बदलाव किये जिससे कोहली की अगुवाई वाले 38 टेस्ट मैच भी शामिल हैं।
कोहली ने पत्रकारों से कहा, ‘‘खेलने के लिये हर कोई फिट है। अश्विन भी अच्छी तरह उबर चुके हैं। उन्होंने कल अभ्यास सत्र में अच्छा अभ्यास किया। वह खेलने के लिये फिट है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमेशा बदलाव नहीं किये गये। इस दौरान कुछ चोटें भी होती थीं जिनके बारे में बात नहीं की गयी। यह दोनों का मिश्रण रहता था। अब परिस्थितियों को देखते हुए हमें कुछ भी बदलने की जरूरत महसूस नहीं हो रही।’’ भारतीय टीम 0-2 से पिछड़ने के बाद नाटिघंम में तीसरे टेस्ट में 203 रन की जीत से पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में वापसी करने में सफल रही। कोहली ने अपनी टीम से कड़ी मेहनत जारी रखते हुए इसी लय को चौथे टेस्ट में बनाये रखने की बात कही।

भारत के 2014 इंग्लैंड दौरे को याद करते हुए कोहली ने कहा, ‘‘हमारे पास शायद शुरू में मिली बढ़त (लार्ड्स पर 1-0 की जीत के बाद) का फायदा उठाने का अनुभव नहीं था। चार साल बाद मुझे यही लगता है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस समय हम समझते हैं कि हम बहुत ही अच्छी स्थिति में हैं क्योंकि हमने सीरीज में सही समय पर लय हासिल की। 0-2 से पिछड़ने के बाद ऐसा खेल दिखाना शानदार है क्योंकि हर किसी ने सोचा होगा कि हमारे खिलाफ क्लीन स्वीप होगा या हमें रौंद दिया जायेगा। ’’ इस मैदान पर तीसरे टेस्ट की मेजबानी होगी और इंग्लैंड ने यहां भारत के खिलाफ 2014 में 266 रन से जीत दर्ज की थी। कोहली ने अपनी टीम से इस जीत की लय को जारी रखकर इसका फायदा उठाने की बात कही।

उन्होंने कहा, ‘‘क्रिकेटर के तौर पर हम समझ जाते हैं कि कब टेस्ट मैच आपकी पकड़ से दूर जा रहा होता है और हम इसे महसूस करने के बारे में भी बात करते हैं ताकि सुनिश्चित कर सकें कि हम उन अहम क्षणों का फायदा उठायें जैसा हमने नांिटघम में किया था। ’’ कोहली ने कहा, ‘‘लेकिन हमें यह भी समझना होगा कि हमें अपने लक्ष्य (सीरीज जीतना) को हासिल करने के लिये हमें दोगुना ज्यादा बेहतर करना होगा। हमें सिर्फ एक जीत से संतुष्ट नहीं होना होगा क्योंकि अगर नाटिघंम में जीत कड़ी मेहनत का नतीजा थी तो यह और भी ज्यादा कड़ा होगा। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘इंग्लैंड की टीम भी मजबूती से वापसी करना चाहेगी। हम समझते हैं कि हमें नाटिघंम से ज्यादा बेहतर करना होगा ताकि हम नतीजा अपने हिसाब से हासिल कर सकें। ’’ इस चौथे टेस्ट के लिये हरी पिच तैयार की गयी है जिसे भारतीय तेज गेंदबाजों के मजबूत पक्ष के मुफीद होना चाहिए।

 

हालांकि कोहली ने तेज गेंदबाजी आक्रमण की संभावना खारिज कर दी। उन्होंने कहा, ‘‘अगर जोहानिसबर्ग जैसी पिच हो तो आपको सभी तेज गेंदबाज उतारने से गुरेज नहीं होता। लेकिन मुझे नहीं लगता कि यह पिच जोहानिसबर्ग की पिच के करीब है। इसलिये मुझे शक है कि सभी तेज गेंदबाजों को खिलाना सही विकल्प होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Asian Games 2018: 20 साल बाद फाइनल में पहुंची टीम इंडिया, गोल्ड पर देश की निगाहें
2 Asian Games 2018: दर्द से कराह रही थीं स्वप्ना बर्मन, हालात से लड़ भारत को दिलाया गोल्ड
3 Asian Games 2018: अरपिंदर सिंह ने जकार्ता में लहराया तिरंगा, भारत को दिलाया 10वां गोल्ड
ये पढ़ा क्या?
X