ताज़ा खबर
 

केएल राहुल ने घुटने की चोट को धता बताते हुए जड़ा टेस्ट करियर का चौथा शतक

मैच के तीसरे दिन के एल राहुल ने शानदार शतक जमाया। भारतीय सरजमीं पर राहुल का ये पहला शतक है और उनके टेस्ट करियर का चौथा शतक है।

चेन्नई टेस्ट मैच के तीसरे दिन शतक जड़ने के बाद दर्शकों का अभिवादन स्वीकार करते केएल राहुल।(Photo: Twitter)

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले जा रहे आखिरी मुकाबले में भारत ने शानदार शुरूआत की। मैच के तीसरे दिन के एल राहुल ने शानदार शतक जमाया। भारतीय सरजमीं पर राहुल का ये पहला शतक है और उनके टेस्ट करियर का चौथा शतक है। भारत में पहला शतक होने के साथ-साथ एक और मायने में ये सेंचुरी खास है। क्योंकि इस पारी के दौरान उनके घुटने की चोट ने उन्हें परेशान किया हुआ है। लेकिन फिर भी वो क्रीज़ पर डटे हुए हैं और इंग्लिश गेंदबाजों की खबर लेते जा रहे हैं। चोटिल होने की वजह से ही राहुल इस सीरीज़ के दो मैच नहीं खेल पाए थे। वो राजकोट और मोहली टेस्ट में टीम का हिस्सा नहीं थे।

भारत में पहला शतक जमाने के लिए राहुल ने 171 गेंदों का सामना किया। इस पारी में राहुल के बल्ले से 8 चौके और 2 शानदार छक्के भी निकले। शतक जमाने के लिए राहुल ने पहले पार्थिव पटेल के साथ मिलकर 152 रन जोड़े। पटेल के आउट होने के बाद राहुल ने पुजारा और फिर विराट के साथ मिलकर भारतीय पारी को आगे बढ़ाया। राहुल ने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में बनाया था। इसके बाद के एल राहुल के बल्ले से श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में सेंचुरी निकली थी। इसके बाद राहुल ने किंगस्टन में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ शतक जमाया था। ये तीनों ही शतक उन्होंने भारत के बाहर बनाए थे। इंग्लैंड के खिलाफ ये उनके करियर का चौथा और भारत में पहला शतक है।

काफी लंबे समय के बाद इंग्लैंड के खिलाफ 5वें टेस्ट मैच में भारतीय टीम के ओपनर्स ने 100 रन से ज्यादा की साझेदारी की। विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के चोटिल होने के बाद इंडिया टीम में वापसी करने वाले पार्थिव पटेल ने अपना शानदार खेल दिखाते हुए भारत के लिए रन जुटाए। वहीं केएल राहुल भी चोटिल होने के बाद वापसी करते हुए अच्छी पारी खेली। दोनों ने भारत के लिए 152 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप करते हुए शानदार शुरूआत दिलायी। मैच के दौरान मुरली विजय के अचानक चोटिल हो जाने से भारतीय कप्तान विराट कोहली की मुश्किल काफी बढ़ गई थी। लेकिन, पार्थिव पटेल ने उनकी इस मुश्किल को हल्का कर दिया। पटेल जब भारत की पहली पारी में ओपनिंग करने उतरे तो उससे पहले उन्होंने लगभग 150 ओवर तक विकेटकीपिंग की थी।

देखें संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App