ताज़ा खबर
 

CLT20: जाक कैलिस के शानदार प्रदर्शन से केकेआर फाइनल में

हैदराबाद। अनुभवी जाक कैलिस के शानदार प्रदर्शन के दम पर कोलकाता नाइट राइडर्स ने आस्ट्रेलिया की होबर्ट हरिकेंस को सात विकेट से हराकर पहली बार चैंपियंस लीग टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया। जीत के लिए 141 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए कैलिस ने नाबाद 54 रन बनाए। आइपीएल चैम्पियन […]

Author October 3, 2014 9:28 AM

हैदराबाद। अनुभवी जाक कैलिस के शानदार प्रदर्शन के दम पर कोलकाता नाइट राइडर्स ने आस्ट्रेलिया की होबर्ट हरिकेंस को सात विकेट से हराकर पहली बार चैंपियंस लीग टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया। जीत के लिए 141 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए कैलिस ने नाबाद 54 रन बनाए। आइपीएल चैम्पियन केकेआर ने पांच गेंद शेष रहते लगातार 14वां मैच जीता। कैलिस ने तीसरे विकेट के लिए मनीष पांडे के साथ 63 रन जोड़े। पांडे ने 32 गेंद में 40 रन बनाए। वहीं कैलिस ने अपनी 40 गेंद की पारी में चार चौके और दो छक्के जड़े।

उन्होंने डग बोलिंजेर को छक्का लगाकर विजयी रन बनाये जबकि बेन हिलफेनहास डीप बैकवर्ड स्क्वेयर लेग पर आसान कैच लपकने में नाकाम रहे। युसूफ पठान 14 रन बनाकर नाबाद रहे। केकेआर की पारी का 13वां ओवर हरिकेंस के लिए खराब रहा जिसमें पांडे करे विकेट के पीछे बेन डंक ने हिलफेनहास की गेंद पर लपका। टीवी रिप्ले ने हालांकि बताया कि गेंदबाज क्रीज से बाहर था जिससे पांडे को अभयदान मिला। इसके बाद से केकेआर ने मैच पर शिकंजा कस दिया। बोलिंजेर के अगले ओवर में पांडे ने छक्का जड़ा।

दूसरी ओर कैलिस ने अपने अनुभव का पूरा इस्तेमाल करते हुए मोर्चा संभाले रखा। कप्तान गौतम गंभीर (4) और राबिन उथप्पा (17) उस समय आउट हो गए थे जब स्कोर बोर्ड पर 44 रन टंगे थे। इससे पहले होबर्ट हरिकेंस हालात का फायदा नहीं उठा सका और 20 ओवर में छह विकेट पर सिर्फ 140 रन बनाए। केकेआर की अनुशासित गेंदबाजी का होबर्ट के बल्लेबाज सामना नहीं कर सके लेकिन शहर के दामाद शोएब मलिक ने 46 गेंद में चार चौकों और चार छक्कों की मदद से नाबाद 66 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज बेन डंक ने 29 गेंद में 39 रन बनाये जिसमें चार चौके और एक छक्का शामिल था।
गंभीर ने अच्छी लय के लिये टीम प्रयास को श्रेय दिया : कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान गौतम गंभीर ने गुरुवार को अपनी टीम के चैंपियंस लीग टी20 में शानदार प्रदर्शन का श्रेय एकजुट प्रयास को देते हुए कहा कि उनकी टीम ने फाइनल में पहुंचने की राह के दौरान खेल के सभी विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया। होबार्ट हरिकेंस पर सात विकेट की जीत से फाइनल में प्रवेश करने के बाद केकेआर के कप्तान ने कहा कि हमें बेहतरीन टम के खिलाफ सचमुच अच्छा खेल दिखाने की जरूरत थी। हम यह नहीं कह सकते कि हमारी सिर्फ गेंदबाजी अच्छी थी। हमारी बल्लेबाजी भी अच्छी थी। यह धीमा विकेट था। उन्होंने कहा कि लगातार जीतना और ऐसे विकेट पर जीतने के लिए आपको बतौर टीम अच्छा खेलने की जरू रत होती है।

 

 

Next Stories
1 एशियाई खेल 2014: 16 साल बाद भारत ने पाक को हॉकी में हराकर जीता गोल्ड
2 एशियाई खेल 2014: कबड्डी में दोहरे स्वर्ण की राह पर भारत
3 एशियाई खेल 2014: 800 मीटर दौड़ में टिंटू लुका ने जीता रजत
ये पढ़ा क्या?
X