ताज़ा खबर
 

भारत की इस स्टार क्रिकेटर से जब इंग्लैंड की कैप्टन बोलीं- मुझे हिंदी सिखाओ, यस का मतलब?

इंग्लिश कप्तान ने खुद इस बारे में खुलासा किया है। ब्रिटिश ब्रॉडकॉस्टिंग कॉरपोरेशन (बीबीसी) के लिए लिखे एक कॉलम में उन्होंने इस वाकये का जिक्र किया है।

इंग्लैंड टीम की कप्तान हेदर नाइट। (फोटोः आईसीसी)

इंग्लैंड क्रिकेट टीम की कप्तान हेदर नाइट को हिंदी नहीं आती थी। ऐसे में खेल के बीच ही उन्होंने भारतीय महिला टीम की स्टार खिलाड़ी स्मृति मंधाना से हिंदी सिखाने के लिए आग्रह किया। नाइट बोली थीं, “आप मुझे हिंदी सिखाइए। यह भी बताएं कि यस (Yes) को हिंदी में क्या कहते हैं?” इंग्लिश कप्तान ने खुद इस बारे में खुलासा किया है। ब्रिटिश ब्रॉडकॉस्टिंग कॉरपोरेशन (बीबीसी) के लिए लिखे एक कॉलम में उन्होंने इस वाकये का जिक्र किया है।

कॉलम के अनुसार, ये वाकया इंग्लैंड की किया सुपर लीग (Kia Super League) के दौरान का है। यह लीग 22 जुलाई से शुरू हुई है। इंग्लैंड में यह महिलाओं की क्रिकेट टी-20 सुपर लीग है। भारत की ओर से मंधाना को इस लीग में खेलने का मौका मिला है। ऐसे में वह केएसएल में खेलने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी हैं।

नाइट और मंधाना, दोनों वेस्टर्न स्टॉर्म टीम का हिस्सा हैं। टूर्नामेंट में कुल छह टीमें हिस्सा ले रही हैं। मंधाना इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया की वीमेंस बिग बैश लीग में भी खेल चुकी हैं, जहां वह ब्रिसबेन हीट टीम का हिस्सा थीं। कॉलम में इंग्लिश कप्तान ने जिक्र करते हुए लिखा, “मैंने मंधाना के साथ कभी भी बल्लेबाजी नहीं की थी। हम यॉर्कशायर डायमंड्स के खिलाफ अपने पहले मैच की दूसरी गेंद के साथ खेल रहे थे।”

भारतीय टीम की स्टार खिलाड़ी स्मृति मंधाना। (फोटोः बीसीसीआई)

बकौल नाइट, “साझेदारी के दौरान विकेट्स के बीच रन लेने में हमें दिक्कत हो रही थी। कारण- मंधाना अंग्रेजी में मुझे रन लेने के लिए बता नहीं पा रही थीं। यह हम दोनों के लिए बड़ी समस्या थी। ऊपर से मैं भी अच्छे से हिंदी नहीं जानती थी, लिहाजा मैंने उनसे हिंदी सिखाने के लिए कहा।”

आगे इंग्लिश कप्तान ने बताया, “मैंने मंधाना से यस (Yes) का मतलब हिंदी में पूछा, जो कि हां था। हालांकि, वह शब्द मेरे लिए क्रीज पर इतना मददगार साबित न हुआ। लेकिन मेरे लिए खेल के बीच में नई भाषा सीखना केएसएल की कुछ अनोखी बातों में से एक है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App