ताज़ा खबर
 

वनडे के बाद टी20 सीरीज गंवाने के बावजूद खुश हैं न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन

कानपुर में खेले गए तीसरे वनडे मैच में किवी टीम ने भारत द्वारा रखे गए 338 रनों के लक्ष्य को लगभग हासिल कर लिया था, लेकिन अंत समय पर वह पूरी कोशिश करने के बाद छह रनों से चूक गई।

भारत ने टी20 सीरीज 2-1 से अपने नाम की।

भारत दौरे पर वनडे और टी-20 सीरीज हारने के बाद भी न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन निराश नहीं हैं। उनका कहना है कि टीम ने इस दौरे पर अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन करीबी मुकाबलों में अहम समय पर अपने खेल में हमें सुधार करना होगा। भारत ने न्यूजीलैंड को वनडे सीरीज में 2-1 से मात दी तो वहीं टी-20 में भी इस अंतर से हराया। दोनों सीरीज का आखिरी मैच निर्णायक था जिसमें नतीजा आखिरी ओवर में निकला। दोनों मैचों में किवी टीम को छह रनों से मात खानी पड़ी।

कानपुर में खेले गए तीसरे वनडे मैच में किवी टीम ने भारत द्वारा रखे गए 338 रनों के लक्ष्य को लगभग हासिल कर लिया था, लेकिन अंत समय पर वह पूरी कोशिश करने के बाद छह रनों से चूक गई। ग्रीनफील्ड स्टेडियम में खेले गए आखिरी टी-20 मैच में भी नतीजा यही रहा।

वेबसाइट ईएसपीएन क्रिकइंफो ने विलियमसन के हवाले से लिखा, “मेरा मानना है कि दोनों मैचों में हमने अच्छा प्रदर्शन किया, हां कहीं थोड़ी सी कमी रह गई। यह हमारे लिए चुनौती है। दोनों मैच आखिरी ओवर में आ गए थे और जब ऐसी स्थिति आती है तो हमें कुछ छोटी जगहों पर सुधार करने की जरूरत है। लेकिन एक टीम के तौर पर हम लगातार सुधार कर रहे हैं और बेहतर होने की कोशिश कर रहे हैं। हमारा यह प्रदर्शन इस सीरीज में देखने को मिला है, लेकिन हम जहां पहुंचना चाहते हैं वहां तक पहुंचने के लिए हमें लंबा सफर तय करना है।” अगर पिछले कुछ महीनों में भारत के खिलाफ बाकी टीमों का प्रदर्शन देखें तो न्यूजीलैंड ने भारत को बाकी टीमों की अपेक्षा अच्छी चुनौती पेश की है।

आखिरी टी-20 मैच में बारिश के कारण मैच आठ ओवर प्रति पारी कर दिया गया था। इस पर विलियमसन ने कहा, “स्वाभिवक सी बात है जब मैच आठ ओवरों का हो गया था हमें अपनी रणनीति में बदलाव करने पड़े। आपके सिर्फ चार गेंदबाज, गेंदबाजी कर सकते हैं। ऐसे में जब बल्लेबाज पिच पर उतर रहे थे तब उनकी सोच अंतिम ओवरों में बल्लेबाजी करने वाली थी। इसका आपको ज्यादा कुछ अनुभव नहीं होता। आपको अमूमन 20 ओवर खेलने को मिलते हैं, लेकिन यह कुछ अलग था।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App