X

जॉनी बेयरस्‍टो या जॉस बटलर? विकेटकीपिंग के लिए कौन पहली पसंद

भारत के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में अर्धशतकीय पारी खेल इंग्लैंड को मुश्किल हालात से उबारने वाले बल्लेबाज जोस बटलर ने कहा कि उनकी टीम का पलड़ा भारी है और वे मैच जीत सकते हैं।

भारत के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में अर्धशतकीय पारी खेल इंग्लैंड को मुश्किल हालात से उबारने वाले बल्लेबाज जोस बटलर ने कहा कि उनकी टीम का पलड़ा भारी है और वे मैच जीत सकते हैं। कप्तान जो रूट (48 रन) के रन आउट होने के बाद टीम मुश्किल में थी। इस समय इंग्लैंड के 122 रन पर पांच विकेट गिर गये थे और उनकी बढ़त 100 रन से भी कम थी लेकिन बटलर ने 69 रन की पारी से टीम को मजबूत स्थिति में खड़ा कर दिया।

बटलर की पारी के कारण टीम तीसरे दिन स्टंप्स तक आठ विकेट पर 260 रन बना लिये। उन्होंने बेन स्टोक्स (110 गेंद में 30 रन) के साथ छठे विकेट के लिए 56 रन और सैम कुरेन (67 बाल में नाबाद 37 रन) के साथ सातवें विकेट लिए 55 रन की साझेदारी कर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। शनिवार को तीसरे दिन के खेल के बाद उन्होंने कहा, ‘हां, निश्चित तौर पर (हम जीत सकते हैं) आपने देखा होगा कि पिच टूट रही है, दाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए ऑफ स्टंप के बाहर पिच काफी खुरदुरी है जिसका फायदा मोईन अली और आदिल रशीद को होगा। हमने देखा है कि तेज गेंदबाजों को भी असमान उछाल मिल रहा है।’

स्टोक्स के साथ साझेदारी के बारे में पूछे जाने पर बटलर ने कहा, ‘हमने विभिन्न प्रारूपों के अलग-अलग स्थितियों में कई बार एकसाथ बल्लेबाजी की हैं इससे हमें एक दूसरे को बेहतर तरीके से जानने का मौका मिला है। वे बाएं हाथ से बल्लेबाजी करते हैं और मैं दाएं हाथ से, हम एक दूसरे को स्ट्राइक देने की कोशिश करते हैं ताकि गेंदबाजों को बार-बार लाइन एवं लेंथ बदलनी पड़े।’