ताज़ा खबर
 

विश्व कप: मध्यक्रम सुधरे, तब कहेंगे कि भारत है तैयार

सलामी जोड़ी के रूप में रोहित शर्मा और शिखर धवन ही कप्तान की पहली पसंद होंगे। लेकिन, मध्यक्रम पर पेच अब भी फंसा हुआ है। भारतीय मध्यक्रम एक मैच में प्रदर्शन करता है तो अगले पांच मैचों तक खामोश रहता है।

Author February 7, 2019 5:37 AM
टीम इंडिया। (Image Source: BCCI)

मनीष कुमार जोशी 

आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड से एकदिवसीय शृंखला जीतने के बाद भारतीय टीम पूरी तरह से फॉर्म में है। इस जीत के बाद से आगामी विश्व कप के लिए टीम को खिताब का प्रबल दावेदार भी माना जा रहा है। क्रिकेट पंडितों का भी यही मानना है कि विश्व कप के लिए भारतीय टीम पूरी तरह से तैयार है। हालांकि हाल के कुछ प्रदर्शन को देखते हुए यह कहना की टीम पूरी तरह से तैयार है, न्याय नहीं होगा। अभी तो उसे मध्यक्रम व्यवस्थित करना है। इतनी जीत के बाद भी अभी तक नंबर चार बल्लेबाज तय नहीं है। सलामी जोड़ी को लेकर भी परीक्षण का दौर जारी है। भारतीय टीम आस्ट्रेलिया दौरे के बाद से लगातार कई खिलाड़ियों को उनके उपयुक्त स्थान के लिए मौके दे रही है। कुछ सफल भी रहे हैं लेकिन उनका क्रम अभी तय नहीं है। सलामी जोड़ी के रूप में रोहित शर्मा और शिखर धवन ही कप्तान की पहली पसंद होंगे। लेकिन, मध्यक्रम पर पेच अब भी फंसा हुआ है। भारतीय मध्यक्रम एक मैच में प्रदर्शन करता है तो अगले पांच मैचों तक खामोश रहता है। यही कारण है कि फिर सारा दबाव निचले क्रम पर आ जाता है। हार्दिक पंड्या और भुवनेश्वर कुमार को सधी बल्लेबाजी करनी पड़ती है। लेकिन, यह विश्वकप जैसे बड़े मैचों के लिहाज से ठीक नहीं है।

बात चाहे न्यूजीलैंड के खिलाफ एक दिवसीय शृंखला की रही हो या फिर आस्ट्रेलियाई दौरे की, ज्यादातर मैचों में मध्यक्रम को मौका नहीं मिला और जिसमें मिला वे नाकाम रहा। सलामी बल्लेबाजों के जल्दी आउट होने पर मध्यमक्रम पर जिम्मेदारी आती है। तीन नंबर पर विरोट कोहली तो उपयुक्त हैं लेकिन, समस्या नंबर चार के स्थान की है। इस जगह के लिए अंबाती रायडू को सही विकल्प माना जा रहा है लेकिन उनकी बल्लेबाजी में आत्मविश्वास की कमी है। वह निरंतर रन नहीं बना पा रहे हैं। यही कारण है कि अब इसके लिए टीम प्रबंधन को और माथापच्ची करने की जरूरत है। अंबाती के साथ इस स्थान के लिए ऋषभ पंत को भी आजमाया जा सकता है। पंत नंबर एक से छह तक खेल सकते हैं। वह विपरीत परिस्थितियों में खेल को बदलने की ताकत भी रखते हैं। पंत के चयन से उनकी विकेटकीपिंग प्रतिभा का भी हमें अतिरिक्त लाभ हमें मिल सकता है।

स्पिन गेंदबाजी में युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव का कोई जवाब नहीं है। भारत के लिए यह जोड़ी महत्त्वपूर्ण साबित हो सकती है। मोहम्मद शमी का स्थान निश्चित है। दूसरे स्थान के लिए खलील अहमद और उमेश यादव में से किसी एक का चयन किया जा सकता है। वहीं भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पंड्या भी भारत के लिए विकल्प होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App