ताज़ा खबर
 

आतंकी भाई की याद में किया क्रिकेट मैच का आयोजन, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने 10 युवाओं पर की कार्रवाई

मैच को देखने के लिए काफी लोग भी आए हुए थे। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने मैच को बंद करवा दिया। सैयद रूबन के भाई सईद ताजुमल इमरान से पूछताछ भी की। ग्राउंड में मारे गए आतंकी के पोस्टर भी लगे हुए थे। मारा गया आतंकी कमांडर रूबन शोपिया जिले का रहने वाला था।

Jammu and Kashmir, Shopian, militant, UAPA Jammu kashmir Police, UAPAमारे गए आतंकी के भाई ने खिलाड़ियों को जर्सी दी थी। (सोर्स – सोशल मीडिया)

जम्मू और कश्मीर पुलिस ने शोपियां जिले में 10 युवाओं पर गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत कार्रवाई की है। पुलिस के मुताबिक, सभी एक आतंकी कमांडर के मारे जाने के बाद उसकी याद में क्रिकेट मैच खेल रहे थे। सूत्रों के अनुसार, 2019 में एक मुठभेड़ में मारे गए आतंकवादी कमांडर सैयद रूबन के भाई द्वारा क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया था। आयोजक के साथ 9 अन्य क्रिकेटरों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस मामले को लेकर कहा, ‘‘आतंकवाद को आकर्षक बनाना यूएपीए के तहत अपराध है।’’

सूत्रों ने यह भी कहा कि आयोजकों ने कुछ जर्सी वितरित की थीं, जिस पर मारे गए आतंकवादी का नाम छपा था। UAPA के तहत 10 व्यक्तियों को बुक किया गया है। मैच को देखने के लिए काफी लोग भी आए हुए थे। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने मैच को बंद करवा दिया। सैयद रूबन के भाई सईद ताजुमल इमरान से पूछताछ भी की। ग्राउंड में मारे गए आतंकी के पोस्टर भी लगे हुए थे। मारा गया आतंकी कमांडर रूबन शोपिया जिले का रहने वाला था। वह साल 2018 में आतंकवाद में शामिल हुआ।

सैयद रूबन के भाई ने कहा, ‘‘मैंने जर्सी को वितरित किया क्योंकि यह मेरा पसंदीदा खेल था। वह (सैयद रूबन) एक प्रतिभाशाली क्रिकेटर थे। खेल के प्रति प्यार और अपनी क्षमताओं के लिए वह हमेशा दोस्तों की तारीफ पाता था।’’ उसने यह भी बताया कि उन्होंने नाजनीपोरा, पिंजौर, शोपियां, काकापोरा पुलवामा और दक्षिण कश्मीर के अन्य गांवों में खेल की गतिविधि को बढ़ाने के लिए जर्सी बांटे हैं।

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई हो रही है। शुक्रवार को उत्तरी कश्मीर के बारामुला में एक मुठभेड़ में तीन आतंकियों को जवानों ने मार गिराया था। इन आतंकियों ने दो परिवार के 12 लोगों को बंधक बना लिया था। सुरक्षा बलों ने आंतकियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पहले सभी नागरिकों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया। इसके बाद उन्होंने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन को अंजाम दिया। सभी आतंकी के पास बड़ी संख्या में हथियार थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मैकेनिकल इंजीनियर और भाजपाई हैं रविंद्र जडेजा की पत्नी रीवा, बहन ने करवाई थी मुलाकात; जानिए लव स्टोरी
2 लॉकडाउन के दौरान कोच बन गए थे युवराज सिंह, IPL 2020 में हिस्सा लेने वाले 4 खिलाड़ियों को घर पर दी थी ट्रेनिंग
3 प्रज्ञान ओझा ने ऑस्ट्रेलिया के जबड़े से छीन ली थी जीत, सचिन तेंदुलकर के विदाई मैच में बने थे हीरो
यह पढ़ा क्या?
X