‘अभी तो शुरुआत है, उसका टाइम आएगा,’ पूर्व कोच ने इशान किशन को ‘हिट या मिस’ क्रिकेटर मानने से किया इंकार

इशान किशन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ रोहित की जगह पारी का आगाज कराया। हालांकि, वह बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में जल्दी आउट हो गया। सुनील गावस्कर ने भारतीय बल्लेबाजी क्रम में बदलाव की आलोचना करते हुए इशान को ‘हिट-या-मिस खिलाड़ी’ बताया था।

India vs New Zealand 2021 Ishan Kishan Uttam Majumdar Former coach
रांची में न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी20 से पहले युजवेंद्र चहल के साथ झारखंड के ईशान किशन। (स्रोत: ट्विटर)

टी20 विश्व कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ विफलता के बाद इशान किशन को ‘हिट या मिस (बड़ा शॉट मारने या आउट हो जाने वाला)’ खिलाड़ी बताया गया। हालांकि, इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज के पूर्व कोच उत्तम मजूमदार का मानना है कि अभी तो शुरुआत है, उसका टाइम आएगा। वह अगले कुछ साल में भारत की सीमित ओवरों की टीम में एक महत्वपूर्ण सदस्य बन सकते हैं।

हाल ही में टी20 विश्व कप के अपने शुरुआती मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से 10 विकेट से हार का सामना करने के बाद भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ रोहित शर्मा के स्थान पर इशान से पारी का आगाज कराया। बाएं हाथ का यह युवा बल्लेबाज हालांकि बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में जल्दी आउट हो गया। भारतीय बल्लेबाजी क्रम में बदलाव की आलोचना करते हुए पूर्व दिग्गज सुनील गावस्कर ने इशान को ‘हिट-या-मिस खिलाड़ी’ करार दिया था।

इशान के बचपन के कोच उत्तम मजूमदार के अनुसार इस 23 वर्षीय के लिए अभी कुछ भी खत्म नहीं हुआ है। उन्होंने कहा, ‘वह (इशान) एक उपयोगी खिलाड़ी है, जो छोटे प्रारूप के लिए सबसे उपयुक्त है। वह पारी का आगाज कर सकता है, एक फिनिशर की भूमिका निभा सकता है। वह बहुत फुर्तीला और शानदार क्षेत्ररक्षक है।’ बिहार के पूर्व अंडर-22 क्रिकेटर मजूमदार ने इशान की प्रतिभा को तब पहचाना था जब वह महज सात साल के थे।

उन्होंने कहा, ‘किसी भी खिलाड़ी को असफलता का सामना करना पड़ सकता है। यह दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि वह बड़े मैच में आउट हो गया। लेकिन अगर टीम की यह रणनीति सफल हो जाती तो वह रातों-रात स्टार बन जाता।’ उन्होंने विश्व कप से पहले इशान के फॉर्म की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘जिस तरह से उसने पिछली तीन पारियों में बल्लेबाजी की थी, उसे देखते हुए और मौके (विश्व कप में) मिलने चाहिए थे।’

इशान ने विश्व कप से पहले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में नाबाद 50 और 84 रन की पारी खेलने के बाद इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में नाबाद 70 रन बनाए थे। मजूमदार ने कहा, ‘वह बहुत नैसर्गिक खिलाड़ी हैं और बड़े शॉट खेलने से नहीं डरता है। उस दिन उसे विशेष रूप से पावरप्ले में बड़ा शॉट खेलने के लिए भेजा गया था, लेकिन दुर्भाग्य से वह उनका दिन नहीं था। हालांकि, उसे और भी कई मौके मिलेंगे।’

उन्होंने कहा कि राहुल द्रविड़ के कोच बनने के बाद इशान को ज्यादा मौके मिलना चाहिए। मजूमदार ने कहा, ‘द्रविड़ सर उन्हें अच्छे से जानते हैं, क्योंकि इशान 2016 अंडर-19 विश्व कप के लिए टीम के कप्तान बने थे। वह भारत ‘ए’ का भी नेतृत्व कर चुके हैं। लगातार दो विश्व कप से उसके लिए काफी उम्मीदें हैं। अभी तो उसने शुरुआत की है।’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
भारत ने 3-0 से जीती टेस्‍ट सीरीज, रहाणे ‘मैन ऑफ द मैच’ तो ‘अश्विन मैन ऑफ द सीरीज बने’
अपडेट